Follow us on
 
मनोरंजन
हिमाचल फिल्म सिनेमा शुरू करेगा ‘शंखनाद दंगल सुरों का’

हिमाचल फिल्म सिनेमा जल्द ही अनलाइन गायन प्रतियोगिता शंखनाद- दंगल सुरों का शुरू करने जा रहा है। इस प्रतियोगिता के माध्यम से लॉकडाउन के चलते पूरे देश के विभिन्न विभिन्न राज्यो से संगीत प्रेमियों के लिए सुरों का दंगल होगा।

हिमाचल न्यूज पर आज लाइव होगी सारेगामा फेम ममता भारद्वाज

Zee Tv सारेगामापा पंजाबी के सुपर 6 में अपनी जगह बना चुकी हिमाचल प्रदेश की मशहूर गायिका ममता भारद्वाज आज हिमाचल न्यूज के गीत-संगीत से जुड़े विशेष कार्यक्रम दिल दिल दिल तक में शाम 8 बजे लाइव होगी। इस शो में वह अपने हुनर दिखाने के अलावा अपने दिल की बातें भी दर्शकों से सांझा करेगी।

हिमाचल के अध्यापक ने बनाई नाटी "हर घर बने पाठशाला"

राजगढ के ज्ञानकोट निवासी भूप सिह वर्मा ने प्रदेश शिक्षा विभाग द्वारा करौना महामारी के लेकर आरंभ किये गये हर घर बने पाठशाला विषय पर एक पहाडी नाटी तैयार की है जिसमे बच्चौ के स्थानीय भाषा मे आन लाईन शिक्षण कार्य करने के लिए जागरुक किया जा रहा है भूप सिह वर्मा पैशे मे अध्यापक है और इस गीत नाटी मे उन्हौने हर घर बने पाठशाला योजना के तहत किस किस प्रकार व किस समय छात्रो व व्टस ऐप ग्रुप के माध्यम से शिक्षण कार्य करवाया जाएगा का पूरा वर्णन किया है। 

हिमाचल के इन गायकों ने गायी ऐसी नाटी कि आप भूल जाएंगे कोरोना का दर्द

हिमाचल प्रदेश के राजगढ क्षेत्र के दूर दराज क्षैत्र देवठी मंझगाव के राकेश शर्मा व सुरेश शर्मा ने तैयार की कौरान के बचाव व सावधानी पर पहाडी जागरूकता नाटी। कोरोना महामारी के इस संकट मे देश का हर नागरिक अपनी क्षमता व प्रतिभा के अनुसार लोगो की सहायता व जागरूकता मे अपनी अहम भूमिका निभा रहा है इसी कडी मे देवठी मंझगांव के शर्मा बधुओ राकेश शर्मा व सुरेश शर्मा ने एक पहाडी नाटी तैयार की है। इस नाटी मे कोरोना कब आया व कैसे इसने पूरी दुनिया को अपनी चपेट मे ले लिया तथा इससे बचने के लिए क्या क्या करना जैसे समाजिक दूरी, सैनेटाईजर का बार बार प्रयोग, हेड वांश व सरकार द्वारा लाक डाऊन में बनाये गये नियमो का पालन करने की बात कही गई है यानि पहाडी भाषा मे यह एक जागरूता नाटी है।

सूफी गायक बलजिंदर बैंस आज होंगे हिमाचल न्यूज पर LIVE

हिमाचल न्यूज के लाइव म्यूजिक प्रोग्राम "दिल से-दिल तक" में आज शाम 8 बजे प्रसिद्ध सूफी गायक बलजिंदर बैंस अपनी प्रस्तुति देंगे।

मिसेज एशिया ने दिया कुल्लू की युवतियों ऐसा संदेश, मिलेगी आगे बढ़ने की प्रेरणा

कुल्लू : समाज में युवतियां कई बंदिशों के चलते खुलकर सामने नहीं आ पाती और उनकी प्रतिभा घर में ही दम तोड़ देती है, लेकिन युवतियों को अपने साथ साथ अन्य व्यक्तियों को शिक्षा देने के लिए आगे बढ़ना चाहिए, ताकि उनकी प्रतिभा हर मंच पर उभर कर सामने आ सके। यह बात विशेष एशिया फोटोजेनिक कल्पना ठाकुर ने गांधीनगर में आयोजित एक सैलून के शुभारंभ अवसर पर कहीं। उन्होंने कहा कि युवतियो के लिए ब्यूटीशियन बनना गौरव की बात है और आज इस क्षेत्र में युवतियां अच्छा मुकाम हासिल कर रही है। ऐसे कोर्स से स्वरोजगार की राह अपनानी चाहिए, ताकि युवतियां अपने दम पर आत्मनिर्भर बन सके। 

रामायण के राम की हिमाचल के जयराम से मुलाक़ात, जानिए अरुण गोबिल की रामायण से अब तक की अनूठी कहानी

रामायण के राम अरुण गोविल ने हिमाचल के मुख्यमन्त्री जयराम ठाकुर से हिमाचल सचिवालय मे मुलाक़ात की। यह एक औपचारिक भेंट थी। अपने जीवन के छ: दशक पूरे कर चुके अरुण गोबिल का न सिर्फ चेहरा बदला बल्कि अपने जीवन के साठ वर्षों में उनके जीवन में भी कई बदलाव आए हैं। धारावाहिक रामायण के इस किरदार के बारे में लोग आज भी जानना चाहते हैं और देखना चाहते हैं। हम आपको रामायण के इस मशहूर किरदार के बारे में बताने जा रहे हैं लेकिन इससे पहले धारावाहिक रामायण से जुड़े कुछ शानदार पहलुओं पर एक नजर डालना जरूरी हो जाता है।

पलक के सर सजा शरद सुंदरी का त्ताज

चंबा की पलक शर्मा ने कड़े मुकाबले में शरद सुंदरी 2019 का खिताब अपने नाम कर लिया। उन्होंने फाइनल राउंड में 11 प्रतिभागियों को हराकर ताज पहना है। कुल्लू की प्रशिका प्रथम उपविजेता जबकि मंडी की आर्य सिंह द्वितीय उपविजेता रहीं। फाइनल में 11 सुंदरियों ने भाग लिया। इनमें चंबा की पलक शर्मा, लाहुल-स्पीति की प्राजोल शर्मा, मंडी की आर्य सिंह, मानवी गुप्ता, प्रियंका शर्मा, शबनम, मनाली की इंदिरा व मालविका नेगी, शिमला की भारती अत्री, कुल्लू की वैष्णवी पराशर व प्रशिका शर्मा के बीच काटे की टक्कर हुई।

'निक्कर वाली क्वीन' में छाया मनाली का गबरू

हिमाचली मनाली के गायक रजत विज के हाल ही में रिलीज हुए वीडियो एल्बम 'निक्कर वाली क्वीन' ने धमाल मचा दिया है। एक सप्ताह के भीतर ही इस सॉन्ग को एक लाख 65 हजार से भी अधिक लोगों ने पसंद किया है। अपने पहले वीडियो फिल्म सॉन्ग को मिले रिस्पांस से रजत विज गदगद हैं । उनका कहना है कि आने वाले समय में वे और वीडियो एल्बम शूट करेंगे जिसमें मिस हिमाचल की फाइनलिस्ट मॉडल्स को ही तवज्जो दी जाएगी। 

शिमला में 8 व 9 दिसंबर को होगा हिमाचल आइडल सीजन-2, 80 कलाकारों के बीच होगा मुकाबला

एच यू म्यूजिक एंड फिल्मस कंपनी के बैनर तले आठ व नौ दिसम्बर को शिमला के एतिहासिक गेयटी थियेटर में हिमाचल आईडनल सीजन-2 का आयोजन होने जा रहा है। इसमें प्रदेश के उभरते हुए कलाकार अपनी कला का जौहर दिखाएंगे। कंपनी की तरफ से बीते दिनों प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में लिए गए ऑडिशन में 80 कलाकारों को चयन हुआ। अब इन कलाकारों के बीच पहले तीन स्थानों के लिए मुकाबला होगा।

हिमाचल में बने फिल्म पालिसी, सरकार से लगाई गुहार

हिमाचल फिल्म सिटी संघ ने प्रदेश सरकार से फिल्म पॉलसी बनाने की मांग की है। शनिवार को हिमाचल फिल्म सिटी के निदेशक पदम वर्मा ने पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि प्रदेश में अपार प्राकृतिक संपदा है और यदि फिल्म पालसी बनती है तो हिमाचल को आर्थिक लाभ के साथ साथ रोजगार भी बढेगा। फिल्म पालिसी बनाने से क्षेत्रीय संस्कृति व पहाड़ी स यता को भी बढ़ावा मिलेगा।

विंटर कार्निवाल दो से छ: जनवरी को मनाली में होगा आयोजित

विंटर कार्निवाल,,,2019 प्रदेश सहित पंजाब में भी आयोजित होंगे ऑडिशन महिला मंडलो सहित युवक मण्डल भी निभाएंगे  अपनी सहभागिता 2 से 6 जनवरी तक मनाली में आयोजित होगा विंटर कार्निवालl 

मुम्बई लौटते ही 'मणिकर्णिका' के प्रमोशन में व्यस्त हो गई कंगना

परिजनों संग दीवाली मनाकर मुंबई लौटी बॉलीवुड क्वीन कंगना राणावत अपनी आनेवाली फिल्म मणिकर्णिका के प्रमोशन में व्यस्त हो गई है। परिवार के सदस्यों के अनुसार कंगना मनाली रुकना चाहती थी लेकिन मणिकर्णिका फ़िल्म की व्यस्तता के कारण उन्हें मुंबई लौटना पड़ा। कंगना रणोत 5 नवम्बर को मानली पहुंची थी। कंगना मणिकर्णिका फ़िल्म की डबिंग में व्यस्त है। यह फ़िल्म 25 नवम्बर को रिलीज होगी।

इन्होंने की पहल और अब गिनीज़ बुक में है दर्ज़ है कुल्लुवी नाटी

कुल्लू की नाटी अंतर्राष्ट्रीय ख्याति अर्जित कर चुकी है और इसका नाम गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज़ हो चुका है. यह सब यूं ही नहीं हुआ. एक शख्सियत ने इसके लिए पच्चास के दशक में पहल की... अभियान छेड़ा.. और अब यह नाटी हर मेले, उत्सव व समारोह का अटूट हिस्सा बन चुकी है. 

इन्होंने दिया हिमाचली संगीत को आधुनिक रूप

बेशक आज हिमाचली संगीत अत्याधुनिकता के दौर से गुजऱ कर यहां- वहां, जहां-तहां बजता हुआ सुनाई देता है. हिमाचली संगीत का डिजिटल दुनियां में एक बहुत बड़ा बाज़ार आज हमारे समक्ष है. गांव की दहलीज़ लांघ कर पहाड़ी संगीत की सौंधी महक मायानगरी तक अपनी खूश्बू बिखेर चुकी है. यह सब यूं ही नहीं हुआ, कुछ शख्सियतों ने इसके लिए पहल की अभियान छेड़ा. ऐसे लोगों में जाने माने संगीतकार एस डी कश्यप को यदि अगुआ कहा जाए तो कोई हर्ज नहीं होगा. इस अभियान में वे लोकापवाद का पात्र भी बने रहें. लोगों के विरोध के बावजूद भी हिमाचली संगीत को आधुनिकता के साथ ज़माने के साथ कदमताल की. यही कारण है हिमाचल संगीत को वर्तमान रूप देने का पूरा श्रेय संगीत प्रेमी एवं विलक्षण प्रतिभा के धनी सिने संगीतकार एस. डी कश्यप को ही जाता है.

12