Follow us on
 
मेरी पंचायत
14वें वित्तायोग की योजनाएं पूरा करने की समय सीमा बढ़ाई

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने जिला किन्नौर, लाहौल-स्पीति और जिला चम्बा के पांगी, भरमौर और किलाड़ क्षेत्र के जिला परिषद, पंचायत समिति अध्यक्ष और विभिन्न ग्राम पंचायतों के प्रधानों के साथ आज वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम बातचीत के दौरान कहा कि कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत जारी लाॅकडाउन के कारण प्रदेश सरकार ने 14वें वित्त आयोग के अंतर्गत विभिन्न परियोजनाओं को पूरा करने की समय अवधि को 31 मार्च, 2021 तक बढ़ा दिया है।

मुख्यमंत्री ने पंचायत प्रधानों से कही ये बड़ी बातें

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने ग्राम पंचायतों के प्रधानों और अन्य लोकतांत्रिक संस्थाओं के चुने हुए प्रतिनिधियों से अपने-अपने क्षेत्रों में कोरोना महामारी के प्रसार को रोकने तथा इससे निपटने के लिए उचित प्रबधंन करने का आह्वान किया है। उन्होंने राज्य में होम क्वारंटीन सुविधाओं के क्रियान्वयन को सुनिश्चित करने के लिए आगे आने का आग्रह भी किया।

अब सरकार की योजनाओं को घर घर पहुंचाएगी महिला पंचायत प्रतिनिधि

हिमाचल सरकार पंचायती राज संस्थाओं में महिलाओं को दिए गए 50 प्रतिशत आरक्षण का सरकार पूरा फायदा लेना चाहती है। सरकार द्वारा महिला पंचायत प्रतिनिधियों के माध्यम से केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं को जनता तक पहुंचाने की पहल की गई है। 

हिमाचल बजट :पंचायत प्रतिनिधियों को बड़ा तोहफा

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने हिमाचल के बजट में पंचायत प्रतिनिधियों और शहरी निकाय के प्रतिनिधियों को खुश करने की सरकार ने कोशिश की है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने बजट में पंचायत प्रतिनिधियों का मानदेय बढ़ा दिया है।

कुल्लू जिला की पंचायते कितनी स्वच्छ. होगा मूल्यांकन

स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत कुल्लू जिला की सभी 204 ग्राम पंचायतों में स्वच्छता की वास्तविक स्थिति का मूल्यांकन किया जाएगा। इस मूल्यांकन कार्य को एक दिसंबर तक पूरा करने के लिए 12 टीमों का गठन किया गया है। इन टीमों के सदस्यों के लिए वीरवार को जिला ग्रामीण विकास अभिकरण कुल्लू के सभागार में उन्नमुखीकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया।

प्रदेश की स्वच्छता में ग्रामीण पंचायतों का अहम योगदान

मीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेन्द्र कंवर ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में स्वच्छता पर विशेष बल दिया जा रहा है।

आदिवासियों सा जीवन जी रहे हैं यहां के लोग

हर नेता सत्ता में आने से इस गांव में आकर लोगों से बड़े बड़े वादे कर जाते हैं। सत्ता मिलती है तो सब भूल जाते हैं। सरकार के शत प्रतिशत विद्युतीकरण के दावे का यह गांव हवा निकालता है। इस गांव की यह कहानी है यहां सड़क है और न बिजली। अंधेरे में अपना जीवन कैसे व्यतीत करते हैं सोचने वाली बात है। यहां के नौनिहाल कैसे पढ़ेंगे कैसे बढ़ेंगे। सदियों से अमावस के काले दिन और रात में जीने को मजबूर...यहां के लोग अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहे हैं। आज के समय में भी यहां के लोग आदिवासियों सा जीवन जी रहे हैं। सिरमौर जिला के गिरीपार क्षेत्र का यह गांव है "खटनाधार" जो आज के इस आधुनिक युग में भी अमावस की रातें काट रहा है।

नगर परिषद नालागढ़ अध्यक्ष पद पर भाजपा का कब्जा

नगर परिषद नालागढ़ से भाजपा की पार्षद नीरू शर्मा को अध्यक्ष चुना गया। इस जीत से कांग्रेस को एक बहुत बड़ा झटका दिया, क्योंकि पहले नगर परिषद नालागढ़ की अध्यक्ष पद की कमान कांग्रेस के पाले में थी। यह चुनाव एसडीएम नालागढ़ केशव राम की अध्यक्षता में करवाया गया। नालागढ़ नगर परिषद में बड़ा बदलाव जहां कुछ समय पहले नगर परिषद अध्यक्ष के लिए गोल्डी राणा का नाम सबसे आगे चल रहा था। वही एकदम से नीरू शर्मा जो कि वार्ड नंबर 8 से एमसी का चुनाव जीती हुई है ।