सार्वजनिक स्थलों पर पोस्टर-बैनर लगाने पर होगी कड़ी कार्रवाई: एसडीएएम
आगामी लोकसभा चुनाव के लिए विभिन्न प्रबंधों और आवश्यक तैयारियों को लेकर कुल्लू विधानसभा क्षेत्र स्तर पर गठित विभिन्न टीमों के नोडल अधिकारियों की बैठक शनिवार को बचत भवन में आयोजित की गई।
नेपाली महिला से 9 किलो 84 ग्राम चरस बरामद
 कुल्लू पुलिस को एक बड़ी चरस की खेप पकड़ने में कामयाबी मिली है। जानकारी के मुताबिक मणिकर्ण पुलिस चौकी प्रभारी नंदलाल ठाकुर के नेतृत्व में कसोल के पास स्थित पंजाबी चूल्हा रेस्टोरेंट के नजदीक नाका लगा रखा था। इस दौरान एक नेपाली महिला पैदल कसोल की तरफ आ रही थी। पुलिस ने शक के आधार पर जब महिला की तलाशी ली तो उसके पास 9 किलो 84 ग्राम चरस बरामद की गई।
विस चुनाव में हारे हुए प्रत्याशी लोकसभा में मुकेश को जीताने की भर रहे हुंकार - कांग्रेस हाईकमान संशय में
हमीरपुर लोकसभा क्षेत्र के टिकट के लिए बड़े  दावेदार तो बेशक पीछे हटते जा रहे हैं लेकिन खेल में विधानसभा चुनाव हारे हुए नेता भी चुनाव जीतने और जिताने का दम भर रहे हैं। ये वे नेता हैं जो स्वयं तो बेशक हज़ारों वोटों के अंतर से विधानसभा चुनाव हार गये हों लेकिन मुकेश को अपने क्षेत्र से हज़ारों की लीड दिलवाने का भरोसा दिलवा रहे हैं। कांग्रेस हाईकमान के समक्ष विधानसभा चुनाव में 10 हजार के अधिक वोटों से हारे हुए नेता भी मुकेश को जिताने और जीतने का दम भर रहे हैं जिस पर हाईकमान को भरोसा नहीं हो रहा है।
बंबर के भंवर जाल में एक बार फिर उलझे सुरेश चंदेल
हमीरपुर संसदीय सीट पर कांग्रेस टिकट की जुगाड़ में चर्चा में बने रहे पूर्व सांसद सुरेश चंदेल एक बार फिर बिलासपुर ज़िला कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक बंबर ठाकुर के भंवरजाल में फंस  गये हैं। अपने ही गृह ज़िला में कांग्रेस के विरोध के कारण सुरेश चंदेल की एंट्री अबतक न हो पाई है । ज़िला कांग्रेस अध्यक्ष बंबर ठाकुर सहित बिलासपुर ज़िला के अनेक सीनियर कांग्रेसी सुरेश चंदेल के कांग्रेस में आकर टिकट झटकने की हसरतों को सिरे नहीं चढ़ने दे रहे हैं 
नॉर्थ इंडिया पत्रकार एसोसिएशन ने मनाली में किए 20 छात्र सम्मानित
 पर्यावरण सहित अन्य विभिन्न क्षेत्रों में सराहनीय  एवं उत्कृष्ट कार्य करने वाली होनहार नन्हीं प्रतिभाओं को नॉर्थ इंडिया पत्रकार आवार्ड से सम्मानित किया गया।  कार्यक्रम ग्रीन हिल्स स्कूल सियाल मनाली में आयोजित किया गया। कार्यक्रम में 20 छात्रों को यह सम्मान दिया गया। जिन्होंने पर्यावरण के लिए बचपन में ही कार्य करना शुरू कर दिए हैं।