हिंदी ENGLISH ਪੰਜਾਬੀ Wednesday, December 19, 2018
Follow us on
हिमाचल

पूर्व एसपी डीडब्ल्यू नेगी की जमानत पर हाईकोर्ट में सुनवाई टली

हिमाचल न्यूज़ | December 06, 2018 05:50 PM
फ़ाइल फोटो

शिमला : कोटखाई के गुड़िया प्रकरण से जुड़े सूरज लॉकअप हत्याकांड मामले में आरोपी शिमला के पूर्व एसपी डीडब्ल्यू नेगी की जमानत पर गुरुवार को हिमाचल हाईकोर्ट में सुनवाई एक बार फिर टल गई। न्यायाधीश सन्दीप शर्मा ने उनकी जमानत पर फैसला 10 जनवरी 2019 तक के लिए टाल दिया है। नेगी ने इसी साल फरवरी माह में जमानत के लिये हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी। वह फिलहाल शिमला के कंडा जेल में बंद हैं।

लॉकअप हत्याकांड मामले में ही पूर्व आईजी एच जहूर जैदी भी कंडा जेल में है और उन्होंने जमानत के लिये सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई है, जिस पर 14 मई को फैसला होगा। इससे पहले प्रदेश हाईकोर्ट जैदी की जमानत याचिका रद्द कर चुका है।

गौरतलब है कि पुलिस लॉकअप में गुडिय़ा के आरोपी सूरज की मौत मामले में सीबीआई ने जैदी समेत आठ पुलिस कर्मचारियों को बीते वर्ष 29 अगस्त को गिरफ्तार किया था। सीबीआई की ओर से गिरफ्तार सभी आरोपी तब से ही न्यायिक हिरासत में चल रहे हैं। पुलिस लॉकअप हत्याकांड मामले में जैदी के अलावा ठियोग के पूर्व डीएसपी मनोज जोशी, एसआई राजेंद्र सिंह, एएसआई दीपचंद, एचएससी सूरत सिंह, मोहन लाल, रफीक अली, रंजीत सरेटा अभी तक सलाखों के पीछे हैं।

सीबीआई ने इसी मामले में 16 नवंबर 2017 को डीडब्ल्यू नेगी को गिरफ्तार किया था।

गुड़िया का शव 06 जुलाई 2017 को शिमला जिले के कोटखाई के जंगल मे बरामद हुआ था। दुष्कर्म के बाद उसे जघन्य तरीके से मौत के घाट उतारा गया था। 12 जुलाई को पुलिस की एसआईटी ने इस मामले में सूरज सहित 6 लोगों को गिरफ्तार किया। लेकिन 18 जुलाई की रात्रि कोटखाई थाने के लॉकअप में सूरज की हत्या कर दी गई थी।

Have something to say? Post your comment
और हिमाचल खबरें