Follow us on
 
शिक्षा

नौणी विश्वविद्यालय में पीएचडी के लिए 3 जनवरी तक करें आवेदन

December 10, 2018 07:37 PM

डॉ यशवंत सिंह परमार औद्यानिकी और वानिकी विश्वविद्यालय, नौणी ने 2018-19 शैक्षणिक सत्र के लिए पीएचडी एडमिशन का नोटिस जारी कर दिया है। विश्वविद्यालय के नौणी स्थित मुख्य परिसर में औद्यानिकी महाविद्यालय और वानिकी महाविद्यालय में विभिन्न पीएचडी कार्यक्रमों के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए गए हैं।

औदयानिकी महाविद्यालय के तहत ऐग्रीबिज़नस, बिज़नस मैनेजमेंट, कीट विज्ञान, फ्लॉरिकल्चर एवं लैंडस्कैप आर्कीटेकचर, खाद्य प्रौद्योगिकी, फल विज्ञान, मोलिकुइलर बायोलॉजी और बायोटेक्नोलोजी, प्लांट पैथोलॉजी, बीज विज्ञान और प्रौद्योगिकी और सब्ज़ी विज्ञान विषयों में पीएचडी के लिए छात्र आवेदन कर सकते हैं।

इसी तरह, यूनिवर्सिटी के वानिकी महाविद्यालय के अंतर्गत कृषि अर्थशास्त्र, ऐगरोफोरेस्टरी, पर्यावरण विज्ञान, वन अनुवांशिक संसंधान, औषधीय और सुगंधित पौधों, माइक्रोबायोलोजी, सिल्विकलचर, सॉइल साइन्स, सांख्यिकी और लकड़ी विज्ञान और प्रौद्योगिकी में पीएचडी सीट के लिए आवेदन किया जा सकता है।

ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि (बिना लेट शुल्क के) 3 जनवरी, 2019 है। औद्यानिकी महाविद्यालय के तहत पीएचडी सीटों की काउन्सेलिंग 10 जनवरी, 2018 को आयोजित की जाएगी जबकि वानिकी महाविद्यालय अपनी पीएचडी सीटों के 11 जनवरी को काउन्सेलिंग करेगा।

प्रत्येक कार्यक्रम के लिए सीटों की विस्तृत जानकारी विश्वविद्यालय की वेबसाइट www.yspuniversity.ac.in पर पाई जा सकती है।

Have something to say? Post your comment
और शिक्षा खबरें
हिमाचल में शिक्षा की इन योजनाओं पर खर्च होंगे 859 करोड़
शोध के बड़े सेंटर के रूप में उभरेगा केंद्रीय विश्वविद्यालय, जानिए क्या होगा खास
IGNOU में प्रवेश के इन विषयों में प्रवेश पाना हो तो 31 जनवरी तक भरें ऑनलाइन फार्म
नौणी विवि में फ्रूटस एंड वेजीटेबल प्रोसेसिंग एवं बेकरी प्रोडक्टस डिप्लोमा करने का सुनहरा अवसर
पीएचडी में एडमिशन के लिए इस तारीख तक करें ऑनलाइन आवेदन
हिमाचल प्रदेश शिक्षा बोर्ड ने की डेटशीट जारी, इस दिन से शुरू होंगी परीक्षाएं
सामाजिक संस्था री इमेजिन ज़िन्दगी की एक अनूठी पहल नवोदय विद्यालय के लिए आवेदन अब 15 तक HP बोर्ड की मार्च में होने वाली परीक्षाओं के लिए फीस भरने की अंतिम तिथि 30 नवंबर इस संस्था ने 1893 में लार्ड मैकाले की शिक्षा नीति को दी थी चुनौती