Follow us on
 
हिमाचल

ढाबे में भीष्ण आग में जिंदा जला युवक

हिमाचल न्यूज़ | January 09, 2019 08:39 PM

शिमला : दुकान में लगी भीषण आग में भीतर सो रहे एक युवक की जिंदा जलकर मौत हो गई। मृतक दुकान में काम करने वाला मजदूर था और नेपाली मूल का है। आग से राख हुई दुकान (ढाबा) में खाना बनाया व परोसा जाता था। घटना राजधानी शिमला के ढली थाना क्षेत्र के चलोंठी इलाके की है।

चलोंठी गांव निवासी अमर चन्द राठौड़ की घर से पांच सौ मीटर दूर सड़क किनारे दुकान है। उसने नेपाल निवासी मोहन सिंह (24) को दुकान में काम पर रखा था। बुधवार सुबह करीब चार बजे स्थानीय लोगों को दुकान में आग लगने की जानकारी हुई।

शोर मचाते हुए ग्रामीण वहां पहुंचे तो आग पूरी दुकान में फैल चुकी थी। दुकान मालिक अमर सिंह मौके पर पहुंचा और फायर ब्रिगेड को बुलाया गया। फायर कर्मियों ने स्थानीय लोगों की मदद से आग पर काबू पाया। लेकिन तब तक मोहन सिंह की जलकर मौत हो चुकी थी।

डीएसपी सिटी दिनेश शर्मा और नायब तहसीलदार ग्रामीण एच एल भेस्ता भी घटनास्थल पर पहुंच गए। घटनास्थल का निरीक्षण कर पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा है। जांच में सामने आया है कि मृतक मोहन सराब पीने का आदि था और नशा भी किया करता था। ठंड से बचने के लिए उसने अलाव जलाया होगा, सम्भवतः इससे आग भड़कने की संभावना है।

डीएसपी दिनेश शर्मा ने बताया कि युवक की घटनास्थल पर मौत हो गई थी। शव का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है। वहीं मामला दर्ज कर आगजनी के कारणों को खंगाला जा रहा है।

Have something to say? Post your comment
और हिमाचल खबरें
कोरोना संकट में बेहतर कार्य करने पर नवाजे डीसी संदीप कुमार
करसोग : अधिशाषी अभियंता का पदभार संभालते ही अरविंद कुमार भारद्वाज ने कही ये बड़ी बात
हिमाचल के 35000 जेबीटी प्रशिक्षु उच्च न्यायालय से शीघ्र न्याय के इंतजार में
कोरोना संकट से जूझते हिमाचली कलाकारों की प्रदेश सरकार से गुहार, कुछ मदद तो करो
Breaking News : हिमाचल में आए कोरोना संक्रमण के आठ नए मामले
हिमाचल मंत्रिमण्डल ने लिए आज ये बड़े फैसले
हिमाचल न्यूज़ बुलेटिन : एक क्लिक पर पढ़ें 24 घंटे की बड़ी खबरें
पटवारी भर्ती मामला : CBI की क्लीन चिट के बाद हाईकोर्ट में याचिका खारिज
43 करोड़ लोगों को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज से 53248 करोड़ रुपए ट्रांसफ़र
कोविड-19 राहत और रोकथाम उपयायों में नियुक्त कर्मचारियों को 50 लाख रुपये की अनुग्रह अनुदान राशि की अनुमति