हिंदी ENGLISH Tuesday, July 14, 2020
Follow us on
 
हिमाचल

पीएम-किसान योजना के तहत आवेदन प्रक्रिया 22 फरवरी तक पूर्ण करने के निर्देश : प्रशांत देष्टा

हिमाचल न्यूज़ | February 14, 2019 01:27 PM

हिमाचल न्यूज़ 

बद्दी : नालागढ़ में पीएम-किसान योजना के कार्यान्वयन के सम्बन्ध में एक बैठक आयोजित की गई। जिसकी अध्यक्षता उपमण्डलाधिकारी नालागढ़ प्रशांत देष्टा ने की। प्रशांत देष्टा ने बैठक में महत्वाकांक्षी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के अन्तर्गत उपमण्डल के किसानों के आवेदन फार्म भरने की प्रक्रिया को 22 फरवरी, 2019 तक पूर्ण करने के निर्देश दिए।  प्रशांत देष्टा ने कहा कि उपमण्डलाधिकारी ने कहा कि योजना के अन्तर्गत आवेदन प्रपत्र सम्बन्धित पटवारियों के पास निःशुल्क उपलब्ध रहेंगे। इसके लिए किसानों को अपने क्षेत्र के पटवारी से सम्पर्क करना होगा। फार्म भरने के लिए कोई शुल्क देय नहीं होगा। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि पीएम-किसान) योजना के तहत उपमण्डल के पात्र किसान 14 फरवरी, 2019 से सम्बन्धित पटवारखानों में आवेदन फार्म भर सकेंगे। 

पात्र लाभार्थी किसानों को प्रति वर्ष सम्मान के रूप में 6000 रुपए के वित्तीय लाभ प्रदान किए जाएंगे। यह सम्मान राशि उन पात्र किसानों को ही प्रदान की जाएगी जिनके पास 02 हैक्टेयर तक ही कृषि योग्य भूमि हो। प्रथम फरवरी, 2019 को भू अभिलेख में दर्ज किसान योजना से लाभ प्राप्त करने के पात्र होंगे।

प्रशांत देष्टा ने कहा कि यह राशि तीन बराबर किश्तों में पात्र किसान के बैंक खाते में जमा की जाएगी। इसके लिए किसान को एक आवेदन प्रपत्र भरना होगा। उन्होंने कहा कि इस आवेदन प्रपत्र में किसान को मांगी गई पूर्ण जानकारी के साथ अपना पूरा पता, बैंक खाता संख्या, आई.एफ.एस.सी. कोड एवं अपने आधार कार्ड की फोटोस्टेट प्रति लगानी होगी। इसे सम्बन्धित पटवारी द्वारा सत्यापित किया जाएगा।

उपमण्डलाधिकारी ने कहा कि भू-स्वामी के उपलब्ध न होने की स्थिति में उसके घर का कोई भी व्यस्क व्यक्ति हस्ताक्षर कर आवेदन प्रपत्र भर कर दे सकता है।

उन्होंने कहा कि संस्थागत भू-स्वामी योजना का लाभ लेने के पात्र नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि जिन कृषक परिवारों के कोई सदस्य पूर्व में अथवा वर्तमान में संवैधानिक पद पर रहे हों, पूर्व में अथवा वर्तमान में किसी भी स्तर पर मंत्री, राज्य मंत्री, लोक सभा, राज्य सभा या विधानसभा सदस्य, नगर निगम के अध्यक्ष, जिला परिषद के अध्यक्ष रहे हों, चतुर्थ श्रेणी को छोड़कर केन्द्र अथवा राज्य सरकार से सेवानिवृत, सेवारत कर्मी रहे हों, चतुर्थ श्रेणी को छोड़कर 10,000 रुपए से अधिक प्राप्त कर रहे पैंशनकर्मी हों, वर्ष 2018-19 के आयकर दाता हों तथा जिन कृषक परिवारों के कोई सदस्य चिकित्सक, वकील, सीए, इंजीनियर, वास्तुकार जैसे व्यवसायी होंगे तो ऐसे कृषक परिवार पीएम-किसान योजना का लाभ प्राप्त करने के पात्र नहीं होंगे।

बैठक में तहसीलदार नालागढ़ केश्व राम, तहसीलदार बद्दी मुकेश शर्मा, ख्ण्ड विकास अधिकारी नालागढ़ हेम चन्द शर्मा, तहसीलदार रामशहर बिमला देवी, नायब तहसीलदार बद्दी राजकुमार सहित अन्य अधिकारी एवं पटवारी उपसिथत थे।

Have something to say? Post your comment
और हिमाचल खबरें
Weather Update : जानिए मंगलवार को कैसा रहेगा हिमाचल का मौसम
इस साल श्रद्धालु नहीं कर सकेंगे श्रीखंड यात्रा, जानिए वजह
सैलरी न मिलने से परेशान प्रवासी मजदूर ने ऐसे लगाया मौत को गले
मंडी और ऊना के ये इलाके कंटेनमेंट जोन घोषित, कर्फ्यू में ढील समाप्त
Coronavirus Update: हिमाचल में एक दिन में आए रिकॉर्ड 78 पॉजिटिव मामले
अब कुल्लू पुलिस लेगी अपने ही एएसआई का रिमांड, जानिए वजह
HPTU ने घोषित किया B.Tech अंतिम सेमेस्टर का परिणाम
जुब्बल क्षेत्र में 76.25 करोड़ की परियोजनाएं समर्पित
मंडी जिला में खोले जाएंगे पांच नए शिशु पालना स्वागत केन्द्र
हिमाचल: सिंगल विंडो बैठक में 15 नए उद्योगों को मंजूरी, 450 करोड़ का निवेश, 1285 को मिलेगा रोजगार