हिंदी ENGLISH ਪੰਜਾਬੀ Sunday, August 25, 2019
Follow us on
हिमाचल

मुख्यमंत्री ने जुखाला में लगाई घोषणाओं की झड़ी

हिमाचल न्यूज़ | February 20, 2019 06:19 PM

बिलासपुर : मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने बिलासपुर जिले के जुखाला में घोषणाओं की झड़ी लगाई। श्री नैनादेवी जी भाजपा मण्डल द्वारा आयोजित अभिनन्दन रैली को सम्बोधित करते हुए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मारकण्डे को स्तरोन्नत कर नागरिक अस्पताल, लाड़ाघाट में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान तथा जुखाला में मुख्यमंत्री लोक भवन निर्माण की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2017 के विधानसभा चुनाव में राजनीतिक परिदृष्य में बड़ा बदलाव हुआ है। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार प्रदेश को देश का एक विकसित राज्य बनाने के लिए वचनबद्धता एवं नई उमंग से कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के एक साल के कार्यकाल में उन्होंने प्रदेश के लोगों की आशाओं एवं आकांक्षाओं को जानने के लिए 68 विधानसभा क्षेत्रों में से 66 विधानसभा क्षेत्रों का दौरा किया है।

जय राम ठाकुर ने नम्होल की पुलिस पोस्ट को स्तरोन्नत कर पुलिस स्टेशन तथा जुखाला में पुलिस पोस्ट खोलने की घोषणा की। उन्होंने खारसी में पटवार सर्कल तथा मारकण्डे से शिमला के लिए वाया नेरी बस सेवा शुरू करने की भी घोषणा की। उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला रानीकोटला में विज्ञान ब्लॉक के निर्माण की भी घोषणा की।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने ब्रहमपुखर-शैली सड़क तथा दियोट से लग-घाट सम्पर्क सड़क के स्तरोन्नयन के लिए क्रमशः 8.59 करोड़ व 5.86 करोड़ रुपये की लागत से पूरा करने के लिए भूमि पूजन किया।

मुख्यमंत्री ने क्षेत्र की कम वोल्टेज की समस्या को दूर करने के लिए 5.02 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले 33/11 केवी सब स्टेशन की आधारशिला भी रखी।

पूर्व सरकार ने विकास के लिए मात्र खाली घोषणाएं ही की : अनिल शर्मा
इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा ने कहा कि पूर्व राज्य सरकार ने प्रदेश के विकास के लिए मात्र खाली घोषणाएं ही की है और धरातल पर कुछ भी नहीं हुआ उन्होंने कहा कि 33/11 केवी सब स्टेशन दो वर्ष की अवधि में पूर्ण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य में सौर ऊर्जा को बढ़ावा दे रही है और गांवों को सोलर लाईटों से जगमगाने के लिए कदम उठाए जा रहे है।

पूर्व राज्य सरकार एम्स के लिए भूमि भी उपलब्ध नही करवा सकी : अनुराग ठाकुर
सांसद अनुराग ठाकुर ने कहा कि केन्द्र सरकार ने वर्ष 2014 में बिलासपुर के लिए एम्स स्वीकृत किया था, परन्तु पूर्व राज्य सरकार इस प्रतिष्ठित संस्थान के लिए भूमि उपलब्ध नही करवा सकी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने अब इसके लिए भूमि उपलब्ध करवाई है और 1300 करोड़ रुपये की लागत से यह संस्थान दो वर्षो में बनकर तैयार हो जाएगा। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रदेश सरकार कांगड़ा जिला में केन्द्रीय विश्वविद्यालय के लिए भी उपयुक्त भूमि उपलब्ध करवाने में असमर्थ रही। केन्द्र सरकार प्रदेश की विकासात्मक जरूरतों के प्रति हमेशा उदार रही है, परन्तु पूर्व सरकार ने इस दिशा में कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने बिलासपुर के लिए हाईड्रो इंजनियरिंग कॉलेज भी स्वीकृत किया है।

ये भी रहे उपस्थित
भाजपा के मुख्य प्रवक्ता रणधीर शर्मा, विधायक सुभाष ठाकुर, जे.आर. कटवाल एवं राजेन्द्र गर्ग, स्थानीय पंचायत प्रधान अनिता ठाकुर, उपायुक्त बिलासपुर विवेक भाटिया भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Posted By : Himachal News

Have something to say? Post your comment
और हिमाचल खबरें
डोभी में पैराग्लाइडिंग हादसे में सैलानी सहित 2 की मौत
हर संस्थान की हो आपदा प्रबंधन योजना: यूनुस
लगघाटी में एक निजी बस दुर्घटनाग्रस्त, एक की मौत
कांग्रेस का हाथ आतंकियों के साथ,देशद्रोह क़ानून हटाने के पीछे देशविरोधी ताक़तों को संरक्षण देने की मंशा:अनुराग ठाकुर
कांग्रेस की देशद्रोही मानसिकता का जवाब लोकसभा चुनावों में देगी जनता : सुरेश भारद्वाज
प्रार्थी ने प्रदेश में लिखी है विकास की इबारत...सत्य प्रकाश ठाकुर
आचार संहिता के दौरान अब तक 5.27 करेाड़ की शराब जब्त
पण्डित सुखराम आया राम गया राम राजनीति की संस्कृति के प्रतीक -चंद्रमोहन
बंजार में हुआ रोजगार मेले का आयोजन-90 दिव्यांगों को मिला रोजगार
नहीं रहे पहाड़ी लोकगायक गिरधारी लाल वर्मा