हिंदी ENGLISH ਪੰਜਾਬੀ Tuesday, July 16, 2019
Follow us on
शिक्षा

शोध के बड़े सेंटर के रूप में उभरेगा केंद्रीय विश्वविद्यालय, जानिए क्या होगा खास

हिमाचल न्यूज़ | February 21, 2019 05:14 PM

देहरा (कांगड़ा) : विश्वविद्यालय से हिमाचल में शिक्षा के क्षेत्र में विकास के नए आयाम स्थापित होने के अतिरिक्त क्षेत्र के युवाओं को गुणात्मक उच्च शिक्षा प्राप्त होगी। केन्द्रीय विश्वविद्यालय के दो विभिन्न स्थानों पर दो परिसर होंगे। पहला परिसर धर्मशाला के निकट जदरंगल जो 750 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला होगा। दूसरा परिसर देहरा में 287 हेक्टेयर क्षेत्र में स्थापित किया जाएगा। इन दोनों परिसरों के निर्माण पर 1300 करोड़ रुपये की राशि व्यय की जाएगी और इनका निर्माण कार्य अगले तीन वर्षों में पूरा हो जाएगा। इस परिसर का लगभग 1 हजार हेक्टेयर तक विस्तार होगा जो कि क्षेत्र का बहुत बड़ा विश्वविद्यालय होगा।

विश्वविद्यालय में चलेंगे 17 स्कूल, 90 विभाग, 50 अध्ययन केंद्र
हिमाचल प्रदेश केंद्रीय विश्वविद्यालय धर्मशाला के विजन दस्तावेज और कार्यनितिक योजना के अनुसार विश्वविद्यालय में धर्मशाला व देहरा परिसरों में कुल 17 शैक्षणिक स्कूल चलाए जाएंगे। इन अध्ययन स्कूलों के अंतर्गत 90 अध्ययन विभाग और करीब 50 अध्ययन केंद्र शुरू करेगा।

शोध के बड़े सेंटर के रूप में उभरेगा केंद्रीय विश्वविद्यालय
निर्माण के बाद छात्र धौलाधार की गोद व ब्यास किनारे अपना शैक्षणिक अध्ययन कार्य कर पाएंगे। केंद्रीय विश्वविद्यालय शोध का भी बड़ा केंद्र बनकर उभरेगा। बड़े विश्वविद्यालयों की तर्ज पर विभिन्न विषयों पर शोध की प्रारंभिक नींव यहां रख दी गई है। केंद्रीय विवि हिमाचल विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी को बढ़ावा देने के लिए उद्योगों के साथ भी लिंकेज स्थापित करेगा। विवि इन अध्ययन केंद्रों को धर्मशाला व देहरा में चयनित भूमि के अलावा राज्य के अन्य स्थानों पर छात्रों को विशेष सुविधा देने के लिए भी शुरू कर सकता है, जिसमें प्रदेश सहित देश भर के छात्रों को उच्च स्तरीय अध्ययन करने का मौका मिलेगा।

सफर 
भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री ने 15 अगस्त 2007 को अपने संबोधन में भारत के उन सभी राज्यों को एक-एक केंद्रीय विश्वविद्यालय बनाए जाने की घोषणा की थी, जिन राज्यों में वर्ष 2007 में केंद्रीय विवि नहीं थे। इसके बाद हिमाचल प्रदेश को भी केंद्रीय विश्वविद्यालय अनिधियम 2009 पर राष्ट्रपति की सहमति 20 मार्च, 2009 को प्राप्त हुई थी। 20 जनवरी, 2010 को केंद्रीय विश्वविद्यालय धर्मशाला में पहले उपकुलपति ने अपना कार्यभार संभाल लिया। सीयू को सूचारू रूप से धर्मशाला के सांस्कृतिक कला मंच को कार्यालय बनाकर व शाहपुर कालेज के किराए के भवन में अध्ययन भी शुरू करवा दिया गया। पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश का केंद्रीय विश्वविद्यालय धर्मशाला लगभग एक दशक तक ज़मीन की तलाश में इधर-उधर भटकता रहा।

एक दशक बाद मिला नींव पत्थर
केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावेड़कर तथा मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने 21 फरवरी 2019 को इस विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी। प्रकाश जावेड़कर ने इस अवसर पर कहा कि इस विश्वविद्यालय के निर्माण के लिए वन स्वीकृत उस समय दी गई थी जब वह केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री थे। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार विश्वविद्यालय परिसर का कार्य शीघ्र पुरा करना सुनिश्चित बनाने के लिए हर संभव सहायता उपलब्ध करवाएगी। 


Posted By : Himachal News

Have something to say? Post your comment
और शिक्षा खबरें
IGNOU में प्रवेश के इन विषयों में प्रवेश पाना हो तो 31 जनवरी तक भरें ऑनलाइन फार्म
नौणी विवि में फ्रूटस एंड वेजीटेबल प्रोसेसिंग एवं बेकरी प्रोडक्टस डिप्लोमा करने का सुनहरा अवसर
पीएचडी में एडमिशन के लिए इस तारीख तक करें ऑनलाइन आवेदन
हिमाचल प्रदेश शिक्षा बोर्ड ने की डेटशीट जारी, इस दिन से शुरू होंगी परीक्षाएं
सामाजिक संस्था री इमेजिन ज़िन्दगी की एक अनूठी पहल
नौणी विश्वविद्यालय में पीएचडी के लिए 3 जनवरी तक करें आवेदन
नवोदय विद्यालय के लिए आवेदन अब 15 तक
HP बोर्ड की मार्च में होने वाली परीक्षाओं के लिए फीस भरने की अंतिम तिथि 30 नवंबर
इस संस्था ने 1893 में लार्ड मैकाले की शिक्षा नीति को दी थी चुनौती