हिंदी ENGLISH ਪੰਜਾਬੀ Thursday, June 27, 2019
Follow us on
हिमाचल

रोहतांग के लिए वन-वे ट्रैफिक प्लान किया जाएगा लागू : डीसी कुल्लू

रेणुका गौतम | March 29, 2019 10:50 PM
हिमाचल न्यूज़
मनाली : पर्यटन सीजन-2019 शुरू होने से पूर्व आवश्यक तैयारियों को लेकर जिला प्रशासन द्वारा  मनाली में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता उपायुक्त कुल्लू, यूनुस ने की। बैठक में सभी विभागों के अधिकारी, सड़क सीमा संगठन तथा राष्ट्रीय उच्च मार्ग प्राधिकरण के अधिकारी, टैक्सी एसोसियेशन, होटल एसोसियेशन तथा विभिन्न हितधारकों ने भाग लिया। 
बैठक में पर्यटन सीज़न  के दौरान यातायात की सही व्यवस्था बनाये रखने का मुद्दा छाया रहा। गौर तलब है कि सीज़न के दौरान प्रतिदिन रोहतांग की ओर 1300 वाहनों को ही जाने की अनुमति प्रदान की जाती है। भारी बर्फबारी के बाद सड़क की हालत खराब होने तथा यातायात के इतने दबाव के चलते लगभग हर रोज़ाना लंबा जाम लगना स्वाभाविक है। इससे बाहरी प्रदेशों व देशों से आए सैलानियों के साथ-साथ स्थानीय लोगों को भी बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। हर वर्ष जिला प्रशासन के लिए चुनौतिपूर्ण इस समस्या से निपटने के लिए नित नए तौर-तरीके सुझाए जाते हैं, लेकिन समस्या का संपूर्ण समाधान काफ़ी मुश्किल रहता है। 
 बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक कुल्लू, शालिनी अग्निहोत्री ने इस बार रोहतांग के दोनों ओर के यातायात को एक-तरफा करने का सुझाव दिया है जिस पर सभी हितधारकों को सहमति बनी है। मनाली से रोहतांग के पार लाहौल-स्पिति की ओर जाने वाले निजी वाहनों के लिए प्रातः सात बजे से पूर्व का समय निर्धारित किया गया है। हालांकि निजी वाहन दोपहर तक भी जा सकेंगे लेकिन उन्हें जाम लगने की असुविधा का सामना करना पड़ सकता है। सैलानियों को रोहतांग की ओर ले-जाने वाली टैक्सियों को केवल दोपहर 12 बजे तक मनाली से जाने की अनुमति होगी और रोहतांग से वाहनों को वापिस मनाली की ओर बाद दोपहर 2 बजे के बाद छोड़ा जाएगा। इस प्रकार यह व्यवस्था एक-तरफा होगी और पर्यटन सीजन जब चरम पर हो, उस समय लागू रहेगी। 
उपायुक्त कुल्लू यूनुस , यातायात नियमों अथवा परमिट से जुड़े मानदण्डों की उल्लंघना करने पर काफ़ी सख्त दिखे। उन्होंने कहा कि रोहतांग पर लाहौल-स्पिति के लिए वाहन की अनुमति लेकर रोहतांग से वापिस लाने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। वाहन को जब्त कर लिया जाएगा और परमिट भी रद्द किया जा सकता है। इसी प्रकार, निजी वाहनों में सैलानियों को लाने-ले-जाने के विरूद्ध भी सख्ती से निपटा जाएगा। हालांकि परमिट आॅन-लाईन जारी किए जा रहे हैं। 
यातायात नियमों में सभी के सहयोग की आवश्यकता पर बल देते हुए उपायुक्त ने कहा कि सड़क पर कुछ लोग स्वयं गलती करते हैं और वाहन को अनाधिकृत तौर पर हर कहीं पर पार्क कर देते हैं अथवा गलत ओवरटेक करते हैं जो जाम का कारण बनता है। उन्होंने इस संबंध में लोगों को सोच में बदलाव लाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि व्यवस्था सभी के सहयोग से बनती है और सड़क पर धैर्य और संयम बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने टैक्सी चालकों तथा आम लोगों से इस संबंध में सहयोग करने की अपील की। उन्होंने कहा कि रोहतांग के वैभव को बचाने के संबंध में राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) तथा माननीय उच्च न्यायालयों के आदेशों की अक्षरशः पालना सुनिश्चित की जाएगी।
रोहतांग व लाहौल-स्पिति को कनेक्टिविटी प्राथमिकता
रोहतांग की ओर यातायात के लिए खोली जा रही सड़क को और चैड़ा करने के आग्रह पर सड़क सीमा सड़क संगठन से आए अविरल जैन ने बताया कि रोहतांग व लाहौल-स्पिति जिले को कनेक्टिविटी प्रदान करना उनकी प्राथमिकता है। इसके लिए प्रथम चरण में सड़क को बहुत चैड़ा करना व्यवहारिक नहीं है और ऐसा करने पर रोहतांग तक सड़क बहाली में दोगुणा समय लग जाएगा जिससे पर्यटन सीजन भी प्रभावित होगा। हालांकि सड़क को बहाल करने के लिए आठ मशीनों को तैनात किया गया है और कार्य प्रगति पर है। 
सोलंग, मढ़ी व रोहतांग पर मूलभूत सुविधाएं सृजित करने पर बल
यूनुस ने मढ़ी तथा रोहतांग में पीने के पानी व शौचालयों की समुचित व्यवस्था करने के संबंधित विभागों को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि रोहतांग में मोबाईल शौचालयों के लिए धनराशि उपलब्ध करवा दी गई है। गुलाबा में भी इसी प्रकार के शौचालयों की सुविधा प्रदान की जाएगी। 
उन्होंने कहा कि पर्यावरण संरक्षण और स्वच्छता को लेकर एनजीटी काफी गंभीर है और इस बारे कोई समझौता नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि रोहतांग तथा सोलंग में स्वच्छता के लिए 21 लाख रुपये की राशि उपलब्ध करवाई गई है। उन्होंने टैक्सी यूनियन के पदाधिकारियों से सभी टैक्सी चालकों को उनकी टैक्सी में यात्रा कर रहे पर्यटकों के कूड़े-कचरे को एक थैले में साथ रखने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी वाहनों को जीपीएस प्रणाली से जोड़ा जाना अनिवार्य है ताकि स्वच्छता तथा सुरक्षा मामलों की प्रभावी निगरानी की जा सके। उन्होंने कहा कि मढ़ी में मार्किट को जल्द क्रियाशील बनाया जाएगा। कुल 14 में से 13 व्यवसायिक दुकानें बनकर तैयार हो चुकी हैं और आबंटित भी कर दी गई है। उन्होंने मढ़ी में स्वच्छता बनाए रखने के निर्देशों का कड़ाई से पालन करने को कहा। उन्होंने सोलंग क्षेत्र में भी स्वच्छता तथा बुनियादी सुविधाएं सुनिश्चित करने को कहा। 
रोहतांग पर विद्युत ट्रांसफार्मर स्थापित करने के निर्देश
उपायुक्त ने विद्युत विभाग को रोहतांग पर अस्थाई विद्युत ट्रांसफार्मर स्थापित करने को कहा। उन्होंने कहा कि इसके लिए धन की कोई कमी नहीं होगी। उन्होंने बिजली विभाग के अभियंताओं को मोबाईल ट्रांसफार्मर स्थापित करने को कहा ताकि रोहतांग पर हैण्डपंप स्थापित किया जा सके। उन्होंने कहा कि बिजली की उपलब्धता से कई अन्य सुविधाएं भी रोहतांग पर सैलानियों के लिए मुहैया करवाई जा सकेगी। उन्होंने ट्रांसफार्मर को दिसम्बर माह से पूर्व वहां से स्थानांतरित करने का सुझाव दिया।
राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर अनाधिकृत निर्माण को तुरंत हटाया जाए 
उपायुक्त को अवगत करवाया गया कि फोर-लेन के साथ कुछ स्थानों पर अनाधिकृत ढारों का विस्तार किया जा रहा है। उन्होंने इसे गंभीरतापूर्वक लेते हुए तुरंत से ऐसे अनाधिकृत कब्जों अथवा निर्माण को तुरंत हटाने के लिए एसडीएम को निर्देश दिए। उन्होंने डोबी पुल के पास मकानों को हटाने तथा कटराईं व क्लाथ में सड़क को सात दिनों में सुधारने को कहा। उन्होंने फोर-लेन के निर्माण के दौरान कुछ स्थलों पर अनावश्यक जाम लगने के लिए सड़क के निर्माण कार्य में खामियों को लेकर राष्ट्रीय उच्च मार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों तथा ठेकेदार को इन स्थलों को तुरंत ठीक करने को कहा। 
उन्होंने फोर-लेन के बीच बिजली के खम्बों को हटाने के लिए संबंधित अधिकारियों को 15 दिन का समय निर्धारित किया। उन्होंने कहा कि इस संबंध मेें किसी प्रकार की ढील नहीं दी जाएगी और कोई हादसा होता है तो सीधे प्राथमिकी दर्ज करके कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कुल्लू से मनाली के लिए दोनों ओर की सड़कों को कुछ स्थानों पर शीघ्र पक्का करने को भी कहा। इसी प्रकार ग्रामीण सड़कों विशेषकर हिडिम्बा व वशिष्ट संपर्क मार्गों की शीघ्र मुरम्मत के लिए उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अभियंताओं को 15 दिनों में ठोस कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने वशिष्ट में पार्किंग के निर्माण के लिए भी कहा और शीघ्र इसका प्राक्कलन तैयार करने के निर्देश दिए।  
उन्होंने पर्यटन तथा पुलिस विभागों को मुख्य स्थलों पर साईन बोर्ड लगाने को कहा। उन्होंने मढ़ी तथा गुलाबा में घोड़ों की निर्धारित संख्या के उल्लंघन पर कड़े कदम लेने के लिए पुलिस को आदेश दिए। सोलंग, मढ़ी तथा गुलाबा में पौधरोपण के लिए उन्होंने वन विभाग को कहा। उन्होंने रोहतांग तक यातायात नियमन, स्वच्छता इत्यादि में सहयोग के लिए स्वयं सेवियों की एक टीम तैयार करने की बात कही, जिन्हें मानदेय प्रदान किया जाएगा। वे सैलानियों का मार्ग-दर्शन भी करेंगे और उन्हें जागरूक भी करेंगे। 
यूनुस ने मढ़ी में जिओ की संचार व्यवस्था बहाल करने केे लिए कहा।   
उपायुक्त ने कहा कि जिला में आने वाले सैलानी यहां से एक अच्छा संदेश और अनुभव लेकर जाएं, इसके लिए हम सभी को सड़कों को सुधारने, बिजली, पानी की समुचित व्यवस्था, स्वच्छता तथा यातायात को सुचारू बनाने जैसी मूलभूत सुविधाओं के सृजन के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होंगे। 
Have something to say? Post your comment
और हिमाचल खबरें
डोभी में पैराग्लाइडिंग हादसे में सैलानी सहित 2 की मौत
हर संस्थान की हो आपदा प्रबंधन योजना: यूनुस
लगघाटी में एक निजी बस दुर्घटनाग्रस्त, एक की मौत
कांग्रेस का हाथ आतंकियों के साथ,देशद्रोह क़ानून हटाने के पीछे देशविरोधी ताक़तों को संरक्षण देने की मंशा:अनुराग ठाकुर
कांग्रेस की देशद्रोही मानसिकता का जवाब लोकसभा चुनावों में देगी जनता : सुरेश भारद्वाज
प्रार्थी ने प्रदेश में लिखी है विकास की इबारत...सत्य प्रकाश ठाकुर
आचार संहिता के दौरान अब तक 5.27 करेाड़ की शराब जब्त
पण्डित सुखराम आया राम गया राम राजनीति की संस्कृति के प्रतीक -चंद्रमोहन
बंजार में हुआ रोजगार मेले का आयोजन-90 दिव्यांगों को मिला रोजगार
नहीं रहे पहाड़ी लोकगायक गिरधारी लाल वर्मा