हिंदी ENGLISH Tuesday, July 14, 2020
Follow us on
 
हिमाचल

कांग्रेस की देशद्रोही मानसिकता का जवाब लोकसभा चुनावों में देगी जनता : सुरेश भारद्वाज

हिमाचल न्यूज़ | April 03, 2019 08:06 PM
हिमाचल न्यूज़ 
 शिमला : शिक्षा कानून एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज जी ने कहा है कि कांग्रेस द्वारा जारी घोषणा पत्र में की गई घोषणाओं से खूनी पंजे वाला असली चरित्र उजागर हो गया है।भारद्वाज ने कांग्रेस घोषणा पत्र तर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि ये भारतीय लोकसभा के लिए नहीं अपितु पाकिस्तान की नैशनल असेम्बली के लिए तैयार किया गया घोषणा पत्र है। उन्होंने कहा कि भारतीय दंड संहिता की धारा 124 ए को हटाना, कश्मीर से एएफएसपीए को समाप्त करने और भारतीय सीमाओं पर भारतीय सैनिकों की संख्या कम करने जैसे कांग्रेस के घोषणा पत्र के वायदों ने कांग्रेस पार्टी को जनता की अदालत में खड़ा कर दिया गया है।
 
भारद्वाज ने कहा कि कांग्रेस की देशद्रोही मानसिकता का जवाब अब लोकसभा चुनावों में जनता देगी और देश में कांग्रेस का समूल नाश कर देगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस घोषणा पत्र ने साबित कर दिया है कि कश्मीर की समस्या वास्तव में कांग्रेस की ही देन है। और उनकी इसी मानसिक्ता ने 1947 मे भारत माता के टुकड़े करके पाकिस्तान जैसे नासुर को पैदा किया था। 
 
भारद्वाज जी ने कहा कि कांग्रेस ने 55 वर्षों से अधिक समय से देश पर राज किया लेकिन हमेशा जनता के साथ धोखा ही किया है। उन्होंने कहा कि 1952 से लेकर लगातार कांग्रेस गरीबी हटाओ का नारा लगाती रही है। और आज एक बार फिर गरीबों की जेब में पैसा डालने का खवाब दिखा रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के राज में हमेशा पैसा कांग्रेस के नेताओं की तीजोरियों में ही जाता रहा है। भारद्वाज जी ने कहा कि देश में बेरोजगारी की समस्या वास्तव में कांग्रेस की ही देन है और सबसे अधिक बेरोजगारी युपीए सरकार के शासन काल में बढ़ी है। 
भारद्वाज ने कहा कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व मे देश में किसान सम्मान नीधि, मजदूर कल्याण पैंशन योजना, गृहणी सुविधा योजना, उज्जवला योजना और आयुष्मान भारत जैसे क्रान्ती योजनाओं के शुरू होने से जनता को राहत मिली है। जिसे देश के हर वर्ग ने सराहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 72 हजार रूपये देने की गपोड़ शंखी योजना  लागू करने की बात की है जो इन योजनाओं का प्रतिकार है। 
Have something to say? Post your comment
और हिमाचल खबरें