Follow us on
 
राजनीति

राठौर बोले : लॉकडाउन व्यवस्था बनाए रखने में नाकाम रहा जयराम मंत्रिमंडल

सोमसी देष्टा : शिमला | April 21, 2020 06:04 PM
कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने प्रदेश में लॉक डाउन के चलते पीडीएस के तहत राशन वितरण प्रणाली पर असन्तोष जताते हुए कहा है कि लोगों को राशन लेने में बहुत सी दिक्कतों का सामान करना पड़ रहा है। डिपुओं में एक समय पर पूरा राशन नही मिल पा रहा है,लोगों को राशन लेने को बार बार कई चक्कर काटने पड़ रहें है। उन्होंने कहा है कि लॉक डाउन की बजह से फंसे मजदूरों और गरीबों, असहाय लोगों को मुफ्त राशन व्यवस्था भी पूरी तरह कागज़ी और हवा हवाई साबित हो रही है।
 
राठौर ने कहा है कि सरकार की शासकीय व्यवस्था अस्त-व्यस्त हो कर रह गई है। प्रदेश सरकार और उनके मंत्री अपने-अपने विभागों की कोई भी समीक्षा तक नही कर रहें है। ऐसा लगता है कि सरकार ने पूरी शासकीय व्यवस्था अपने अधिकारियों के कंधों पर राम भरोसे छोड़ दी है।
   
राठौर ने कहा है प्रदेश सरकार के सभी मंत्री ऐसे खामोश बैठे है मानो उनके विभागों में कोई भी समस्या ही नही है। हैरानी की बात है कि लॉक डाउन के इस समय मंत्रियों ने अपने अपने विभागों की कोई भी समीक्षा बैठक तक नही की है। उन्होंने कहा है कि लोगों की समस्याओं को दूर करने में सरकार असफल साबित हो रही है।  
 
राठौर ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के उस बयान पर भी तीब्र प्रतिक्रिया व्यक्त की है जिसमें उन्होंने लॉक डाउन की बजह से दूसरे राज्यों में फंसे हजारों लोगों के साथ साथ छात्रों को प्रदेश में उनको उनके घरों तक पहुंचाने की कांग्रेस की मांग पर राजनीति करने का आरोप लगाया है।उन्होंने कहा है कि जब उत्तर प्रदेश या राजस्थान से छात्रों और श्रद्धालुओं को लग्जरी बसों में वापिस उनके घर लाया जा सकता है तो प्रदेश के लोगों को क्यों नही।इस प्रकार का दोहरा मापदंड सही नही है।
 
राठौर ने कहा है कि कानून सबके लिए एक समान है।सरकार भाजपा नेताओं के साथ साथ अपने कार्यकर्ताओं को लॉक डाउन की पूरी छूट देकर कोरोना माहमारी की रोक उपायों की सरे आम धज्जियां उड़ा रही हैं। उन्होंने इस पर अपनी चिंता जताते हुए कहा है कि अधिकारी सरकार के दबाव में भेदभाव तरीके से काम कर रही है, जो कभी सहन नही किया जा सकता।
 
राठौर ने शिक्षा मंत्री के उस बयान पर भी हैरानी जताई है जिसमें उन्होंने पहले निजी स्कूलों में लॉक डाउन अवधि की फीस माफ़ करने की बात कही थी और अब वह इससे पलट कर माफ़ करने या न करने का पूरा फैंसला इन्ही निजी स्कूलों के प्रबंधन पर छोड़ कर अपना पला झाड़ रहे है। उन्होंने फिर दोहराया है कि प्रदेश में लॉक डाउन की बजह से प्रभावित सभी लोगों को विशेष राहत दी जानी चाहिए।
Have something to say? Post your comment
और राजनीति खबरें
हिमाचल प्रदेश की पहली वर्चुअल रैली में गजरेगें केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद
कांग्रेस ने महंगाई और भ्रष्टाचार खिलाफ खोला मोर्चा
घटिया राजनीति पर उतर आए पूर्व विधायक
बिंदल के इस्तीफे पर भाजपा महामंत्री ने कही यह बड़ी बात
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पद से बिंदल का इस्तीफा, जानिए वजह (Video)
भाजपा महिला मोर्चा के प्रदेश पदाधिकारियों व जिलाध्यक्षों के पद पर इन्हें मिली जिम्मेदारी
विधानसभा का विशिष्ट सत्र बुलाया जाने पर भाजपा विधायकों ने ली करवट
राठौर ने कहा : अपनी विफलताओं को छिपाने के लिए तबादले करने में जुटी है जयराम सरकार
निराधार बयान देने पर कांग्रेस को आड़े हाथों लिया बिंदल ने
सोनिया के बयान पर बिफरे बिन्दल