Follow us on
 
मनोरंजन

सूफी गायक बलजिंदर बैंस आज होंगे हिमाचल न्यूज पर LIVE

हिमाचल न्यूज़ | April 25, 2020 10:45 AM


हिमाचल न्यूज की संगीत महफ़िल  "दिल से दिल तक"  में आप भी जुड़िए शनिवार, शाम 8 बजे

 हिमाचल न्यूज के लाइव म्यूजिक प्रोग्राम "दिल से-दिल तक" में आज शाम 8 बजे प्रसिद्ध सूफी गायक बलजिंदर बैंस अपनी प्रस्तुति देंगे।

बलजिंदर बैंस का जन्म 5 मई 1989 को होशियारपुर पंजाब में हुआ है। इन्हें बचपन से ही गायकी का शौक रहा। महान गायक उस्ताद नुसरत फतेह अली खान और पंजाबी गायक सरदूल सिकंदर से इन्हें गायकी की प्रेरणा मिली। इनके पिता राकेश सिंह बिल्ला जो पेशे से संगीत शिक्षक हैं बलजिन्दर गुरु भी हैं।

बलजिंदर बैंस ने बचपन से ही सूफी संगीत और भारतीय शास्त्रीय संगीत का अनुसरण करते हुए अपने पिता से प्रशिक्षण शुरू किया। इन्होंने आर्ट्स कॉलेज चंडीगढ़ से एमए क्लासिकल की डिग्री भी ली है। इसके बाद इन्होंने सूफी गायक के रूप में अपना करियर शुरू किया और सूफी महफिलों व धार्मिक समारोहों गाना शुरू किया।

बलजिंदर बैंस की स्टूडियो बिट्स रिकार्डस कंपनी द्वारा निर्मित दो म्यूज़िक अल्बम संगीत की दुनियाँ में अपना रंगत दिखाते हुए धूम मचा रही हैं। उनका पहला एल्बम "प्यार पौनाहारी दा" है और सबसे बड़ा हिट एल्बम "दीदार हो गया" है। बलजिन्दर का गीत "तेरा शहर" को हर वर्ग ने बहुत पसंद किया और करोड़ों दिल पर छा गया। इसके अलावा इनके कई गीत यूट्यूब पर धूम मचा रहे हैं।

हिमाचल न्यूज Facebook Page पर इस कार्यक्रम को Live देखने के लिए इस लिंक पर Click करें और page को like करें https://www.facebook.com/himachalnews7

Have something to say? Post your comment
और मनोरंजन खबरें
हिमाचल फिल्म सिनेमा शुरू करेगा ‘शंखनाद दंगल सुरों का’
हिमाचल न्यूज पर आज लाइव होगी सारेगामा फेम ममता भारद्वाज
हिमाचल के अध्यापक ने बनाई नाटी "हर घर बने पाठशाला"
हिमाचल के इन गायकों ने गायी ऐसी नाटी कि आप भूल जाएंगे कोरोना का दर्द
मिसेज एशिया ने दिया कुल्लू की युवतियों ऐसा संदेश, मिलेगी आगे बढ़ने की प्रेरणा
रामायण के राम की हिमाचल के जयराम से मुलाक़ात, जानिए अरुण गोबिल की रामायण से अब तक की अनूठी कहानी
पलक के सर सजा शरद सुंदरी का त्ताज
'निक्कर वाली क्वीन' में छाया मनाली का गबरू शिमला में 8 व 9 दिसंबर को होगा हिमाचल आइडल सीजन-2, 80 कलाकारों के बीच होगा मुकाबला हिमाचल में बने फिल्म पालिसी, सरकार से लगाई गुहार