हिंदी ENGLISH ਪੰਜਾਬੀ Monday, November 19, 2018
Follow us on
मेरी पंचायत

आदिवासियों सा जीवन जी रहे हैं यहां के लोग

HIMACHAL NEWS Paonta Sahib (Sirmour) | October 26, 2018 06:13 PM
हर नेता सत्ता में आने से इस गांव में आकर लोगों से बड़े बड़े वादे कर जाते हैं। सत्ता मिलती है तो सब भूल जाते हैं। सरकार के शत प्रतिशत विद्युतीकरण के दावे का यह गांव हवा निकालता है। इस गांव की यह कहानी है यहां सड़क है और न बिजली। अंधेरे में अपना जीवन कैसे व्यतीत करते हैं सोचने वाली बात है। यहां के नौनिहाल कैसे पढ़ेंगे कैसे बढ़ेंगे। सदियों से अमावस के काले दिन और रात में जीने को मजबूर...यहां के लोग अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहे हैं। आज के समय में भी यहां के लोग आदिवासियों सा जीवन जी रहे हैं। सिरमौर जिला के गिरीपार क्षेत्र का यह गांव है "खटनाधार" जो आज के इस आधुनिक युग में भी अमावस की रातें काट रहा है।
 
जिला सिरमौर में आज भी कई ऐसे गांव हैं जहां पर बिजली सड़कें वा पानी नहीं पहुंचे हैं। ऐसा एक गांव शिलाई के अंतर्गत क्यारी गुंडाह पंचायत के गांव खटनाधार में जहां 25 घर आज भी बिना बिजली के अपना जीवन व्यतीत कर रहे हैं। यहां मोदी सरकार के घर घर बिजली होने का दावे को झूठा साबित कर रही है। पूरा का पूरा गांव ही बिना बिजली के जीवन व्यतीत कर रहा है प्रदेश में भी दीनदयाल बिजली योजना का संचालन किया जा रहा है परंतु उसके बावजूद भी यह गांव बिजली के बिना रह रहे हैं। केंद्र सरकार जहां पर पहले ही बिजली की व्यवस्था है वहां पर सोलर लाइट भी दे रहा है परंतु जिन गांव जहां आजतक बिजली की तारें भी नहीं पहुंच पाई है वहां पर सोलर लाइट भी नहींं दे रही है ग्रामीणों का कहना है कि वह पिछले कई सालों से बिजली के बिना ही रह रहे हैं तथा उन्हें जय राम सरकार से उम्मीद थी उनके सत्ता मे आते ही गांव में बिजली पहुंच जाएगी
 
जयराम सरकार को सत्ता में आए भी एक साल होने को है तथा नेताओं के दावे भी झूठे साबित हो रहे हैं उनका कहना हैं कि हर वर्ष वह चुनावी मुद्दा बनाकर हमारी वोटे ले लेते हैं परंतु बिजली नहीं पहुंचाते। गांववासियों ने कहा कि कई बार नेताओं को इस समस्या से अवगत करा चुके हैं पर नेता सिर्फ वोट की राजनीति के लिए यहां आते हैं लेकिन उनकी समस्या का कोई भी समाधान नहीं करता


"हमारे संज्ञान में यह मामला पहली बार आया है कनिष्ठ अभियंता व उपमंडल अधिकारी को सख्त निर्देश दिए जाएंगे और जल्द ही इन गांव की समस्याओं को दूर करने का प्रयास किया जाएगा।"
डी एस ठाकुर, अधिशासी अभियंता बिजली विभाग 
Have something to say? Post your comment