हिंदी ENGLISH ਪੰਜਾਬੀ Monday, November 19, 2018
Follow us on
राजनीति

टिकट की रेस : भाजपा में दावेदारी का दौर शुरू

October 29, 2018 08:23 AM
फाइल फोटो

हिमाचल न्यूज़ 


हिमाचल की चारों लोकसभा सीटों से कांग्रेस और भाजपा के कई नेता टिकट की जुगत में जुट गए हैं। राज्य की मंडी, शिमला, कांगड़ा और हमीरपुर सीटों से पूर्व मंत्री, विधायक और युवा नेता टिकट के लिए अपनी अपनी गोटियां फिट कर रहे हैं। फिलवक्त हमीरपुर के सांसद अनुराग ठाकुर के अलावा अन्य सभी सांसद टिकट को लेकर संशय में है।

भाजपा : दावेदारी का दौर शुरू
लोकसभा चुनाव में टिकट हासिल करने को भाजपा के कई नेताओं में दावेदारी का दौर शुरू हो गया है। भाजपा के मौजूदा सांसदों में हमीरपुर के सांसद अनुराग ठाकुर के अलावा बाकि सभी के लिए टिकट बचाए रखना चुनौती बन गया है। वर्तमान में हिमाचल की चारों सीटों पर भाजपा का कब्जा है। 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के साथ हिमाचल में भाजपा ने कांग्रेस का सूपड़ा साफ कर कांगड़ा से शांता कुमार, हमीरपुर से अनुराग ठाकुर, मंडी से रामस्वरूप शर्मा और शिमला से वीरेंद्र कश्यप को संसद भेजा। कांगड़ा के सांसद शांता कुमार ने पहले से चुनाव न लडऩे का ऐलान कर रखा है ऐसे में शिमला और मंडी के अलाव कांगड़ा में भी टिकट के लिए घमासान मचा हुआ है।

कांगड़ा : शांता कुमार के चुनाव न लडऩे की सूरत में कौन बनेगा उत्तराधिकारी
कांगड़ा संसदीय सीट से पूर्व राज्यसभा सांसद तो कृपाल परमार बैजनाथ के पूर्व विधायक दूलो राम और इंदु गोस्वामी टिकट की रेस में है।

हमीरपुर : आसान नहीं है अनुराग का टिकट काटना
हमीरपु के सांसद और लोकसभा में भाजपा के चीफ व्हिप अनुराग ठाकुर का टिकट काटने का इच्छुक भाजपा का कोई नेता अभी तक हमीरपुर से मैदान में नहीं उतरा है। एक भाजपा नेता ने इस हसरत के साथ प्रचार शुरू जरूर किया, मगर अब वह खामोश हैं। ऐसे में अनुराग का टिकट ही चारों सीटों में अब तक सबसे सुरक्षित है।

मंडी : कांटे बड़े हैं राम की राह में
मंडी संसदीय सीट से वर्तमान सांसद रामस्वरूप शर्मा की टिकट की डगर आसान नहीं है। सूत्र बताते हैं भाजपा के आंतरिक सर्वे में मौजूदा सांसद का ग्राफ काफी गिर गया है। ऐसे में इस सीट से रामस्वरूप शर्मा के पूर्व सासंद महेश्वर सिंह टिकट की दौड़ में सबसे आगे हैं। महेश्वर इसी सीट से सांसद रह चुके हैं। वह राज्यसभा सांसद भी रहे हैं। पूर्व केंद्रीय संचार राज्य मंत्री पंडित सुखराम पोते आश्रय शर्मा को टिकट चाह रहे हैं। ऐसा करने पर भाजपा के पाले में यह सीट डालने का दावा भी सुखराम कर चुके हैं। इसके अलावा ब्रिगेडियर खुशहाल सिंह का नाम भी टिकट की फेहरिस्त में है।

शिमला : बहुत कठिन है डगर कश्यप की
शिमला संसदीय सीट से वर्तमान सांसद वीरेंद्र कश्यप के सामने टिकट की राह में कई रोड़े हैं। वीरेंद्र कश्यप अदालती मामले में उलझे हैं। उनके प्रतिद्वंद्वी इस मुद्दे को भुनाकर भी टिकट झटकना चाह रहे हैं। ऐसे में इस सीट से कश्यप के अलावा भाजपा टिकट पर चुनाव लड़ चुके एचएन कश्यप प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं। इनके अलावा रोहडू़ से विधानसभा का चुनाव लड़ चुकीं शशिबाला और नगर निगम शिमला की महापौर कुसुम सदरेट का नाम भी चर्चा में हैं।

 

"हिमाचल की चारों सीटों पर भाजपा एक बार फिर काबिज होगी होगी केंद्र मे फिर से नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनेगी टिकट का फैसला संसदीय कार्य समिति करेगी।" 
सतपाल सिंह सत्ती : अध्यक्ष, हिमाचल प्रदेश भाजपा




ये भी पढ़ें : कांग्रेस में एक अनार सौ बीमार वाली स्थिति 

Have something to say? Post your comment
और राजनीति खबरें
वेंटिलेटर पर नप अध्यक्ष बद्दी की कुर्सी
सुक्खू का दावा : कांग्रेस की चार्जशीट में होंगे चौंकाने वाले खुलासे
अपने मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिए मोदी ने तोड़े युवाओं के सपने : राहुल
लोकसभा चुनावों की आहट : मुख्यमंत्री हर संसदीय क्षेत्र की टटोल रहे नब्ज
प्रदेश युवा कांग्रेस की कार्यकारिणी का विस्तार, इन्हें मिली कमान
इस दिन निरमंड से आंदोलन की शुरुआत करेगी कांग्रेस
निर्मला देवी प्रदेश महिला कांग्रेस की उपाध्यक्ष नियुक्त
टिकट की रेस : कांग्रेस में एक अनार सौ बीमार वाली स्थिति
शीर्ष नेतृत्व चुनाव लड़ने को तैयार नहीं और चारों सीटें जीतने दावा करती है कांग्रेस
आप का हिमाचल में लोकसभा चुनाव लडऩे का एलान