हिंदी ENGLISH ਪੰਜਾਬੀ Sunday, November 18, 2018
Follow us on
प्रदेश

करनाल में गुरुकुल के बारे में हिमाचल के राज्यपाल ने कही ये बातें

November 04, 2018 05:11 PM

हिमाचल न्यूज़ - करनाल 

हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने कहा कि गुरुकुल शिक्षा के माध्यम से बच्चों के सर्वांगीण विकास पर बल दिया जाता है। यहां आधुनिक शिक्षा के साथ-साथ बच्चे संस्कार की शिक्षा लेकर अच्छे समाज की संरचना में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। बच्चे देश का भविष्य हैं और उनका विकास करना हमारा कर्तव्य है। राज्यपाल आज करनाल स्थित गुरुकुल नीलोखेड़ी के तीसरे वार्षिकोत्सव के अवसर पर बतौर मुख्यातिथि संबोधित कर रहे थे।

राज्यपाल ने कहा कि गुरुकुल नीलोखेड़ी ने तीन वर्षों की अल्पावधि में अनेक उपलब्धियां हासिल की हैं। न केवल पढ़ाई में बल्कि खेल गतिविधियों में भी स्कूल के बच्चे राज्य ही नहीं राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कार प्राप्त कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसका कारण यहां के समर्पित शिक्षक हैं जो हर समय बच्चों के बीच रहकर उनके सर्वांगीण विकास की दिशा में प्रयासरत रहते हैं। उन्होंने कहा कि आज गुरुकुल शिक्षा पद्धत्ति की समाज को जरूरत है, जहां भारतीय परम्परा को आगे बढ़ाते हुए बच्चों को शारीरिक व मानसिक रूप से सशक्त बनाया जाता है।

उन्होंने कहा कि ये बच्चे देश का भविष्य हैं और उन्होंने विश्वास जताया कि ये बच्चे समाज को बदलकर देश को नई दिशा प्रदान करेंगे। उन्होंने कहा कि मेहनत जीवन की नींव है और यहां बच्चों को मेहनत के द्वारा उनकी रचनात्मक ऊर्जा को सार्थक दिशा प्रदान की जाती है। उन्होंने स्कूल प्रशासन को इसके लिए बधाई दी और आशा व्यक्त की कि भविष्य में बच्चे और अच्छा प्रदर्शन कर स्कूल व माता-पिता का नाम रोशन करेंगे। राज्यपाल ने मेधावी विद्यार्थियों को पुरस्कृत भी किया। इस अवसर पर गुरुकुल के छात्रों रंगारंग कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए।

इससे पूर्व, कार्यक्रम के मुख्यातिथि ओकाया पावर लिमिटेड के चेयरमैन ओ.पी.गुप्ता, एक्शन टीसा के चेयरमैन एन. के. अग्रवाल, प्रमुख समाज सेवक बृजलाल सराफ तथा अमेरिका में रह रहे प्रवासी भारतीय चौधरी सुरेन्द्र ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

Have something to say? Post your comment