हिंदी ENGLISH ਪੰਜਾਬੀ Monday, November 19, 2018
Follow us on
देश

रोहतांग की बहाली को बीआरओ की कसरत शुरू

हिमाचल न्यूज़ : मनाली | November 05, 2018 11:37 AM

हिमाचल न्यूज़ : मनाली (कुल्लू)

बर्फबारी से बन्द हुए रोहतांग दर्रे में यातायात की बहाली सीमा सडक संगठन (बीआरओ) ने कसरत शुरू कर दी है। बर्फबारी थमते ही बीआरओ ने रोहतांग बहाली के कार्य शुरू कर दिया। मनाली की ओर से गुलाबा तक सड़क साफ कर दी गई है जबकि लाहुल घाटी में भी एक टीम केलांग से कोकसर तो दूसरी टीम केलांग से दारचा की ओर बर्फ हटाने में जुट गई है। रोहतांग दर्रे में लगभग पांच फीट बर्फबारी हुई है। रोहतांग से कोकसर तक अढाई फीट से डेढ़ फुट तक बर्फबारी हुई है जबकि इतनी ही बर्फ मढी के आसपास भी हुई है। मढी से गुलाबा तक एक फीट से आधा फुट तक हिमपात हुआ है। बीआरओ की माने तो हालांकि रोहतांग दर्रे में बर्फ अधिक है लेकिन बीआरओ शीघ्र ही दर्रा बहाल कर लाहुल में फंसे लोगो को राहत देगा। 

तो 15 नवम्बर से बंद होगा रोहतांग
उल्लेखनीय है कि बीआरओ मनाली केलांग मार्ग सहित रोहतांग दर्रे को आधिकारिक तौर पर 15 नवम्बर तक खुला रखता है। 15 नवम्बर के बाद दर्रा वाहनो के लिए अधिकारिक तौर पर बन्द हो जाएगा। 15 नवम्बर को लाहुल स्पिति प्रशासन मढी ओर कोकसर में रेस्क्यू पोस्ट स्थापित करेगा। यह रेस्क्यू टीम पैदल दर्रा पार करने वालो की मदद करेगी।

कई वाहन फंसे है लाहुल में
वाहन चालक टशी और पलजोर ने बताया की वे लोग वाहन सहित लाहुल में फंसे हुए है। उन्होंने भी बीआरओ से आग्रह किया को रोहतांग मार्ग को शीघ्र बहाल किया जाए ताकि वाहन दर्रे को पर कर सके।

'बीआरओ ने रविवार को मौसम खुलते ही रोहतांग बहाली का कार्य शरू कर दिया है। तीन चार दिनों के भीतर बीआरओ रोहतांग को बहाल कर लाहुल घाटी को मनाली से जोड़ देगा।' 

कर्नल एके अवस्थी 
कमांडर - बीआरओ  

Have something to say? Post your comment
और देश खबरें
गडकरी से कुल्लू घाटी को जल्द मिलेगी ये बड़ी सौगातें लामा का सपना सच : अब साल भर जांस्कर से जुड़ी रहेगी पद्म घाटी
बर्फबारी के बाद गुनगुनी धूप ने दिलाई सर्दी से राहत, रात में ठिठुरन जारी
हिमाचल की इस खूबसूरत बहू के सिर सजा है मिसेज इंडिया गैलेक्सी के फर्स्ट रनर अप का खिताब
सावधान : हिमाचल में हो सकता है हिमस्खलन, इन 5 जिलों में अलर्ट जारी
हिमाचल में बर्फबारी से तापमान गिरा, ठंड बढी, अब कल से नहीं सताएगा मौसम
अभी और सताएगा मौसम लेकिन इस दिन से खिलेगी धूप
बर्फवारी के बाद रोहतांग बंद, अब इस दिन खुलेगा यह दर्रा
नेहरू को भाया इस चश्मे का पानी तो नामकरण हुआ 'नेहरू कुण्ड'
इस नर्तकी ने कुल्लुवी नाटी पर थिरकने को मजबूर किया था पं. नेहरू को