हिंदी ENGLISH ਪੰਜਾਬੀ Sunday, November 18, 2018
Follow us on
हिमाचल

खेलों के माध्यम से नशे के खिलाफ अभियान चलाने की जरूरत : राज्यपाल

हिमाचल न्यूज़ : शिमला | November 07, 2018 06:13 AM
रोहड़ू में टी-20 क्रिकेट प्रतियोगिता के समापन अवसर पर उमड़ी भीड़

राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने कहा कि नशा एक सामाजिक बुराई है और इसके खिलाफ हम सबको मिलकर लड़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि खेलों के माध्यम से युवाओं में जागृति लाकर नशे के खिलाफ माहौल तैयार करने की आवश्यकता है। शिमला जिले के रोहड़ू में टी-20 क्रिकेट प्रतियोगिता के समापन अवसर पर उन्होंने कहा कि खेलों के माध्यम से नशे के खिलाफ जो अभियान चलाया गया है, उसके लिए संघ बधाई का पात्र है। उन्होंने कहा कि युवाओं की ऊर्जा को सही दिशा न मिले तो वह गलत रास्ते का चयन कर सकता है। उन्होंने खेद जताया कि देव भूमि भी नशे जैसी सामाजिक बुराई से अछूती नहीं रही है और यहां पर भी नशे जैसे गैर कानूनी कार्यों में लोग संलग्न पाए जाते हैं। इससे समाज को बचाने के लिए खेलों के माध्यम से अभियान चलाया जाना चाहिए।

रोहड़ू में टी-20 क्रिकेट प्रतियोगिता के समापन अवसर पर भाषण देते राज्यपाल
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार भी नशे के खिलाफ अभियान छेड़े हुए है। यह राजनीतिक मामला नहीं है। नशा हर परिवार को प्रभावित कर सकता है। इसलिए यह हमारा कर्त्तव्य बनता है कि हम इस अभियान का हिस्सा बनें और प्रदेश को नशे से मुक्त करें। उन्होंने कहा कि हमारे सांस्कृतिक मूल्य काफी उन्नत रहे हैं और देव-भूमि में नशे की कल्पना भी नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा कि नशा करने वाला व्यक्ति बुद्धिहीन हो जाता है और वह समाज और देश के काम नहीं आ सकता।

रोहड़ू में टी-20 क्रिकेट प्रतियोगिता के समापन अवसर पर हिमाचल के राज्यपाल आचार्य देवव्रत, पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, पूर्व सासंद प्रतिभा सिंह व विधायक विक्रमादित्य सिंह व अन्य
वीरभद्र सिंह बोले : नशे की बुराई का शिकार हो रहे हैं युवा

इस अवसर पर, पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि खेल मनुष्य के जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। उन्होंने इस बात पर चिंता जताई कि आज कुछ युवा नशे की बुराई का शिकार हो रहे हैं। इस तरह की खेल प्रतियोगिताएं इस दिशा में अच्छा कदम है और इससे युवा आगे आकर नशे के खिलाफ माहौल तैयार करने में सहयोग करेंगे।

खेलों से पैदा होगी सामाजिक चेतना
शिमला ग्रामीण के विधायक एवं हिमाचल प्रदेश खेल, सांस्कृतिक एवं पर्यावरण संघ के अध्यक्ष विक्रमादित्य सिंह ने राज्यपाल का स्वागत किया तथा कहा कि संघ के माध्यम से अनेक सामाजिक बुराइयों के खिलाफ इस तरह के आयोजन किए जाते हैं, जिनसे सामाजिक चेतना पैदा की जा सके।

रोहड़ू में टी-20 क्रिकेट प्रतियोगिता की विजेता टीम
प्रतियोगिता में 6000 खिलाड़ी हुए शामिल
एक माह तक चली इस प्रतियोगिता में करीब 437 टीमें शामिल हुईं और 6000 से अधिक खिलाड़ियों ने भाग लिया। प्रतियोगिता में जुब्बल की टीम विजेता तथा कुसुम्पटी की टीम उप-विजेता रही। प्रतियोगिता का आयोजन हिमाचल प्रदेश खेल, सांस्कृतिक एवं पर्यावरण संघ द्वारा किया गया था। इस प्रतियोगिता के लिए संघ द्वारा नारा दिया गया था-‘‘आओ नशा छोड़ें-खेल खेलें’’।

ये भी रहे मौजूद
स्थानीय विधायक मोहन लाल बराक्टा, रामपुर के विधायक नंद लाल, पूर्व सांसद प्रतिभा सिंह, राज्यपाल के सलाहकार डॉ. शशिकांत शर्मा भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment
और हिमाचल खबरें
सैंज घाटी के बरशांघड़ में लगी आग, देवालय सहित 6 घर राख शिमला के माल रोड़ मसाज पार्लर के नाम पर होता था गंदा काम, अब चढ़े पुलिस के हथे हिमाचल के आठ हजार युवा क्लबों को यह जिम्मेदारी सौंपने जा रहे हैं खेल मंत्री राष्ट्र निर्माण में शिक्षा का अहम योगदानः मुख्यमंत्री ग्रामीण क्षेत्रों के उत्थान में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है सहकारी सभाएं : मुख्यमंत्री शशि मल्होत्रा और पप्पी बिष्ट बनी महिला कल्याण बोर्ड की सदस्य करोड़ों के छात्रवृति घोटाले में शिमला पुलिस ने दर्ज की एफआईआर शालिनी शर्मा 'इंटरनेशनल इनर व्हील क्लब' की अध्यक्ष चिट्टा और नशीली दवाइयां समेत पांच चढ़े पुलिस के हत्थे नप अध्यक्ष के वार्ड में ऐसी गंदगी देखकर आप भी कहेंगे 'थू'