हिंदी ENGLISH Wednesday, September 30, 2020
Follow us on
 
मेरा गांव
कुल्लू का शरण गांव हैण्डलूम क्राफ्ट विलेज चयनित

केन्द्रीय वस्त्र मंत्रालय द्वारा कुल्लू जिला की नग्गर पंचायत के ऐतिहासिक गांव शरण को देश के तीन चुनिंदा गांवों में क्राफ्ट हैण्डलूम विलेज के तौर पर विकसित करने के लिए चुना है।

इस नजारे को देखकर हर दिल कहता है आह! घगोली

हिमाचल के पहाड़ों पर बसे गांव खूबसूरती की मिसाल हैं। भोलापन, सादगी, कड़ी मेहनत, यह सब पहाड़ की जीवनशैली का हिस्सा है। पहाड़ों की तरह कठोर एवं जीवट यहां का जनजीवन है।

भौंरूथाच : ये सादगी...भोलापन और कहां

पहाड़ खुद खूबसूरती की मिसाल हैं. भोलापन, सादगी, कड़ी मेहनत, यह सब पहाड़ की जीवनशैली का हिस्सा है. पहाड़ों की तरह कठोर एवं जीवट यहां का जनजीवन है. प्रकृति ने पहाड़ों के आंचल में कई ऐसे खूबसूरत भू-खंड रचे हैं जहां की प्राकृतिक आभा किसी का मन न मोह लें यह हो नहीं सकता. देवभूमि कुल्लू की सैंज घाटी पार्वती परियोजना और ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क की बजह से आज किसी परिचय की मोहताज नहीं है.

कर्नल बैंटी के सपनों का गांव : बरोट

अंग्रेजी हुकुमत में कर्नल बैंटी की बरोट पर खास मेहर रही है. इसलिए इस बरोट को कर्नल बैंटी के सपनों का गांव भी कहा जाता है.