हिंदी ENGLISH Saturday, August 08, 2020
Follow us on
 
आज विशेष
हिमाचल ने याद किए हिमाचल निर्माता डा. यशवंत सिंह परमार

हिमाचल प्रदेश के निर्माता और प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री डाॅ. यशवंत सिंह परमार की 114वीं जयंती के अवसर पर हिमाचल ने खूब याद किए।

जानिए श्रावण मास में क्या है रूद्राभिषेक का महत्त्व

रुद्रार्चन और रुद्राभिषेक से हमारे कुंडली से पातक कर्म एवं महापातक भी जलकर भस्म हो जाते हैं और साधक में शिवत्व का उदय होता है तथा भगवान शिव का शुभाशीर्वाद भक्त को प्राप्त होता है और उनके सभी मनोरथ पूर्ण होते हैं।

द रीयल हीरो : कैप्टन विक्रम बतरा

आज के ही दिन 7 जुलाई 1999 को भारत मां के वीर सपूत कैप्टन विक्रम बत्रा ने कारगिल युद्ध के दौरान मातृभूमि की हिफाजत में सर्वस्व होम कर शहादत पाई थी। शेरशाह के नाम से मशहूर रहे कारगिल विजय के हीरो कैप्टन बतरा की शहादत को शत- शत नमन। उनके वीरता के किस्से हिमाचल के गबरुओं को सेना की वर्दी के प्रति आकर्षित करते रहेंगे।

ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ झारखंड आदिवासियों की आजादी की पहली लड़ाई थी “हूल क्रांति”

ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ झारखंड आदिवासियों की आजादी की पहली लड़ाई “हूल क्रांति” थी। 30 जून हूल दिवस को क्रांति दिवस रूप में मनाया जाता है। इसे संथाल विद्रोह भी कहा जाता है। यह अंग्रेजों के खिलाफ आजादी की पहली लड़ाई थी। इस लड़ाई का नेतृत्व सर्वप्रथम संथाल परगना के भोगनाडीह में सिदो-कान्हू ने किया था।

सूर्य ग्रहण में भूलकर भी न करें ये काम, हो सकता है बड़ा नुकसान

सूर्य ग्रहण 21 जून 2020 की प्रातः से दोपहर तक संपूर्ण भारत में खंडग्रास रूप में दिखाई देगा। 

सूर्य ग्रहण : जानिए किस राशि पर क्या प्रभाव पड़ेगा

21 जून को सूर्य ग्रहण लगेगा। सूर्य ग्रहण को एक प्रमुख खगोलीय घटना के तौर पर देखा जाता है। लेकिन ज्योतिष शास्त्र में भी सूर्य ग्रहण का विशेष महत्व है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य ग्रहण का असर सभी राशियों पर पड़ता है।

21 जून को लगेगा साल का पहला सूर्य ग्रहण, बरतें ये सावधानियां

21 जून को लगने वाला ग्रहण इस साल का पहला सूर्य ग्रहण है। सूर्य ग्रहण भारतीय समयानुसार सुबह 9:15 आंशिक सूर्य ग्रहण शुरू होगा, जबकि 10:17 पर पूर्ण सूर्य ग्रहण दिखाई दे सकता है। पूर्ण सूर्य ग्रहण रविवार दोपहर ठीक 2:02 मिनट पर समाप्त होगा और 3:04 पर आंशिक ग्रहण समाप्त होगा।

आज शुरू हो रहे हैं 'पंचक', जानिए क्या है 'पंचक'

वैदिक ज्योतिष में पांच नक्षत्रों के विशेष मेल से बनने वाले योग को पंचक कहा जाता है। जब चंद्रमा कुंभ और मीन राशि पर रहता है तो उस समय को पंचक कहा जाता है। चंद्रमा एक राशि में लगभग ढाई दिन रहता है इस तरह इन दो राशियों में चंद्रमा पांच दिनों तक भ्रमण करता है। इन पांच दिनों के दौरान चंद्रमा पांच नक्षत्रों धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वाभाद्रपद, उत्तराभाद्रपद और रेवती से होकर गुजरता है। अतः ये पांच दिन पंचक कहे जाते हैं।

श्रद्धांजली : वीर जवान, बेहतर लोक गायक और उत्कृष्ट खिलाड़ी थे तिलक राज

14 फरवरी 2019 को जम्मू-कश्मीर में हुए बड़े आतंकी हमले में हिमाचल प्रदेश के ज्वाली विधानसभा क्षेत्र की नाणा पंचायत के धेवा गांव के वीर जवान तिलक राज को भी शहादत प्राप्त हुई। इस आतंकी हमले में कांगड़ा ने एक वीर जवान ही नहीं, बल्कि एक बेहतर लोक गायक और उत्कृष्ट कबड्डी खिलाड़ी भी खो दिया।

आज वेलेंटाइन हैं इसे खास बनाने के लिए अपनाएं 10 रोमांटि‍क आइडिया

14 फरवरी यानि वैलेंटाइन डे... इस दिन आप क्या करने वाले हैं अपने साथी के लिए? अगर वेलेंटाइन डे पर अपने पार्टनर के लिए कोई बढ़ि‍या सी योजना बनाना चाहते हैं, और अब तक कुछ प्लान नहीं किया है, तो यह 10 बेहतरीन रोमांटिक टिप्स करेंगे आपकी मदद। 

वेलेंटाइन डे पर अपने प्यार को दीजिए ये खास उपहार

प्यार, इश्क और मोहब्बत जैसे शब्दों को महसूस करने और कराने का सबसे खास दिन है वेलेंटाइन डे, जि‍से आप अपने प्यार के साथ सेलिब्रेट करते हैं। मन में छुपे इस प्यार को जाहिर करने का एक बेहतरीन तरीका है उपहार देना। 

वेलेंटाइन डे : प्यार का दिन...प्यार के इजहार का दिन

आखिर क्या है ऐसा इस नाजुक से शब्द 'प्यार' में कि सुनते ही रोम-रोम में मीठा और भीना अहसास जाग उठता है। जिसे प्यार हुआ नहीं, उसकी इच्छा है कि हो जाए, जिसे हो चुका है वह अपने सारे प्रयास उसे बनाए रखने में लगा रहा है। प्रेम, प्यार, इश्क, मोहब्बत, नेह, प्रीति, अनुराग, चाहत, आशिकी, अफेक्शन, लव। ओह! कितने-कितने नाम...और मतलब कितना सुंदर, सुखद और सलोना। आज प्रेम जैसा कोमल शब्द उस मखमली लगाव का अहसास क्यों नहीं कराता जो वह पहले कराता रहा है। जो इन नाजुक भावनाओं की कच्ची राह से गुजर चुका है वही जानता है कि प्यार क्या है।

जानिए वेलेंटाइन डे का इतिहास

ऐसा माना जाता है कि वेलेंटाइन-डे मूल रूप से संत वेलेंटाइन के नाम पर रखा गया है। परंतु सैंट वेलेंटाइन के विषय में ऐतिहासिक तौर पर विभिन्न मत हैं और कुछ भी सटीक जानकारी नहीं है। 1969 में कैथोलिक चर्च ने कुल ग्यारह सेंट वेलेंटाइन के होने की पुष्टि की और 14 फरवरी को उनके सम्मान में पर्व मनाने की घोषणा की। इनमें सबसे महत्वपूर्ण वेलेंटाइन रोम के सेंट वेलेंटाइन माने जाते हैं। वेलेंटाइन डे को दुनिया के ज्यादातर देशों में प्रेम दिवस के रूप में मनाया जाता है।

वेलेंटाइन डे : जानिए अलग अलग देशों मे कैसे मानते हैं इस दिन को

14 फरवरी ...वेलेंटाइन डे... प्यार का दिन...प्यार के इजहार का दिन। अपने जज्बातों को शब्दों में बयां करने के लिए इस दिन का हर धड़कते हुए दिल को बेसब्री से इंतजार होता है। जी हां, हम बात कर रहे हैं, प्यार के परवानों के दिन की, वेलेंटाइन-डे की...। प्यार भरा यह दिन खुशियों का प्रतीक माना जाता है और हर प्यार करने वाले शख्स के लिए अलग ही अहमियत रखता है।

जानिए बसंत पंचमी के दिन पीले रंग का क्या है महत्व

हिमाचल न्यूज़ : बसंत पंचमी के दिन पीले रंग का बेहद खास महत्व होता है। बसंत पंचमी के दिन पीला रंग पहनना शुभ माना जाता है। इसके पीछे दो महत्वपूर्ण कारण माने जाते हैं। 

12