हिंदी ENGLISH Friday, November 27, 2020
Follow us on
 
आज विशेष
अखंड सुहाग का व्रत हरितालिका तीज आज, जानें पूजन का शुभ मुहूर्त और व्रत विधि

भारत में अखंड सौभाग्य के व्रत हरतालिका तीज की महिमा अपरंपार है। विशेषकर विवाहित महिलाओं में इस व्रत को लेकर अत्यधिक उत्सुकता होती है। इस व्रत का साल भर इंतजार किया जाता है।

हिमाचल से रहा है अटल बिहारी वाजपेयी का गहरा नाता

अटल बिहारी वाजपेयी बेशक पूरे देश के लिए प्रधानमंत्री थे, लेकिन हिमाचल के लिए वे अभिभावक की तरह रहे। यही वजह है कि सक्रिय राजनीतिक छोड़ने के बाद पूर्व प्रधानमंत्री ने कुल्लू के प्रीणी को अपना घर बनाया। वह ज्यादातर समय यही पर ही रहना पसंद करते थे। यहां के सौंदर्य और बर्फ से लदी पहाड़ियों पर उन्होंने कविताएं भी लिखी हैं।

अटल बिहारी वाजपेयी के जीवन से जुड़े वो पहलू, जिन्हें आप जरूर जानना चाहेंगे

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की आज दूसरी पुण्यतिथि है। ऐसे में याद आते हैं अटल जी के जीवन से जुड़े कुछ किस्से जो उनके जीवन दर्शन की एक झलक दे जाते हैं।

पश्चिम बंगाल के इस इलाके में 15 नहीं 18 अगस्त को मनाते हैं स्वतंत्रता दिवस, जानिए बजह

देश के ही कुछ शहर ऐसे हैं जहां 15 अगस्त के बजाए 18 अगस्त को आजादी का त्योहार मनाया जाता है। पश्चिम बंगाल के नदिया जिला ऐसा शहर है, जहां 15 अगस्त को नहीं बल्कि 18 अगस्त को आजादी का जश्न मनाया जाता है। इसके पीछे का इतिहास भी बड़ा रोचक है।

हिमाचल के इस इलाके में 15 नहीं, 16 अगस्त को मनाया जाता है स्वतंत्रता दिवस, जानिए बजह

पूरे भारत में 15 अगस्त को आजादी का जश्न मनाया जा रहा है। इस दिन का खास महत्व है। 15 अगस्त 1947 को हमें आजादी मिली। हम हर साल इसे स्वतंत्रता दिवस के तौर पर मनाते हैं, लेकिन भारत में ही कुछ इलाके ऐसे भी हैं, जहां 15 अगस्त नहीं बल्कि 16 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है।  

शिमला की इस ईमारत में लिखी गई थी भारत विभाजन की पटकथा

भारत आज 74वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। देश की आजादी के लिए भारत को बड़ी कीमत चुकानी पड़ी थी। जब भी भारत की आजादी का जिक्र होगा, तब शिमला का ज़िक्र अवश्य होगा। पहाड़ों की रानी शिमला देश की आजादी के इतिहास का गवाह है।

नहीं रहे मशहूर शायर राहत इंदौरी : जानिए उनके जीवन के अनछुए पहलू

मशहूर शायर राहत इंदौरी ने दुनियां को अलविदा कह दिया है। कोरोना से संक्रमित से जूझ रहे राहत इंदौरी का इंदौर के अरविंदो अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। वे 70 साल के थे।

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी : 11 अगस्त को मनाना श्रेष्ठ

जन्माष्टमी का त्योहार भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मनाया जाता है, लेकिन इस बार तिथियों की घट-बढ़ के कारण मतभेद है। इस साल भी पिछले साल की तरह कृष्ण जन्माष्टमी की तिथि को लेकर लोगों के बीच उलझन बनी हुई है।

हिमाचल ने याद किए हिमाचल निर्माता डा. यशवंत सिंह परमार

हिमाचल प्रदेश के निर्माता और प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री डाॅ. यशवंत सिंह परमार की 114वीं जयंती के अवसर पर हिमाचल ने खूब याद किए।

जानिए श्रावण मास में क्या है रूद्राभिषेक का महत्त्व

रुद्रार्चन और रुद्राभिषेक से हमारे कुंडली से पातक कर्म एवं महापातक भी जलकर भस्म हो जाते हैं और साधक में शिवत्व का उदय होता है तथा भगवान शिव का शुभाशीर्वाद भक्त को प्राप्त होता है और उनके सभी मनोरथ पूर्ण होते हैं।

द रीयल हीरो : कैप्टन विक्रम बतरा

आज के ही दिन 7 जुलाई 1999 को भारत मां के वीर सपूत कैप्टन विक्रम बत्रा ने कारगिल युद्ध के दौरान मातृभूमि की हिफाजत में सर्वस्व होम कर शहादत पाई थी। शेरशाह के नाम से मशहूर रहे कारगिल विजय के हीरो कैप्टन बतरा की शहादत को शत- शत नमन। उनके वीरता के किस्से हिमाचल के गबरुओं को सेना की वर्दी के प्रति आकर्षित करते रहेंगे।

ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ झारखंड आदिवासियों की आजादी की पहली लड़ाई थी “हूल क्रांति”

ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ झारखंड आदिवासियों की आजादी की पहली लड़ाई “हूल क्रांति” थी। 30 जून हूल दिवस को क्रांति दिवस रूप में मनाया जाता है। इसे संथाल विद्रोह भी कहा जाता है। यह अंग्रेजों के खिलाफ आजादी की पहली लड़ाई थी। इस लड़ाई का नेतृत्व सर्वप्रथम संथाल परगना के भोगनाडीह में सिदो-कान्हू ने किया था।

सूर्य ग्रहण में भूलकर भी न करें ये काम, हो सकता है बड़ा नुकसान

सूर्य ग्रहण 21 जून 2020 की प्रातः से दोपहर तक संपूर्ण भारत में खंडग्रास रूप में दिखाई देगा। 

सूर्य ग्रहण : जानिए किस राशि पर क्या प्रभाव पड़ेगा

21 जून को सूर्य ग्रहण लगेगा। सूर्य ग्रहण को एक प्रमुख खगोलीय घटना के तौर पर देखा जाता है। लेकिन ज्योतिष शास्त्र में भी सूर्य ग्रहण का विशेष महत्व है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सूर्य ग्रहण का असर सभी राशियों पर पड़ता है।

21 जून को लगेगा साल का पहला सूर्य ग्रहण, बरतें ये सावधानियां

21 जून को लगने वाला ग्रहण इस साल का पहला सूर्य ग्रहण है। सूर्य ग्रहण भारतीय समयानुसार सुबह 9:15 आंशिक सूर्य ग्रहण शुरू होगा, जबकि 10:17 पर पूर्ण सूर्य ग्रहण दिखाई दे सकता है। पूर्ण सूर्य ग्रहण रविवार दोपहर ठीक 2:02 मिनट पर समाप्त होगा और 3:04 पर आंशिक ग्रहण समाप्त होगा।

123