हिंदी ENGLISH Tuesday, November 24, 2020
Follow us on
 
पर्यटन

हिमाचल में पंचवटी पार्क से आएगी बहार, ये सुविधाएं मिलेगी

सोमसी देष्टा : शिमला | June 30, 2020 06:46 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर | PHOTO : Pexels.com

हिमाचल न्यूज : 
हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में बुजुर्गों के लिए मनोरंजक स्थान बनाने के लिए सभी ब्लॉक में पंचवटी पार्क स्थापित करने की योजना शुरू की है। सरकार की इस पहल से राज्य के वरिष्ठ नागरिक बेहद खुश हैं। 

Photo by Luis Dalvan from Pexels
 यहां बनेंगे पार्क
ये पार्क राज्य के सभी 78 ब्लॉकों में एक बीघा से लेकर दो बीघा तक के ग्रामीण विकास विभाग के विशेषज्ञों के मार्गदर्शन में स्थापित किए जाएंगे। जिनका रख-रखाव व प्रबंधन स्थानीय पंचायती राज संस्थाओं के माध्यम से किया जाएगा। इस योजना के पहले चरण के तहत मंडी जिला के विकास खंड गोहर, जिला ऊना में विकास खंड बंगाणा, जिला कुल्लू में बंजार और नग्गर, लाहौल-स्पिति जिला के काजा में इन पार्कों के निर्माण के लिए भूमि की पहचान की गई है। कांगड़ा जिला में नगरोटा बगवां व सुलह, सिरमौर जिले में पांवटा साहिब और पच्छाद, चंबा जिले में तीसा और भटियात, किन्नौर जिले में कल्पा, सोलन जिले में कंडाघाट, शिमला जिले में विकास खंड रोहड़ू और हमीरपुर जिले के नादौन में इन पार्कों के निर्माण के लिए भूमि की पहचान की गई है।

Photo by Noelle Otto from Pexels
 जॉगिंग ट्रैक, वॉकिंग ट्रैक, योग और ध्यान कक्षाओं के लिए होंगे विशेष स्थान
पंचवटी योजना के तहत बनने वाले प्रत्येक पार्क में अत्याधुनिक व्यायाम और मनोरंजक उपकरण लगाए जाएंगे। एक मीटर चौड़ी और 150 मीटर लंबी पत्थर की जॉगिंग ट्रैक, वॉकिंग ट्रैक, योग और ध्यान कक्षाओं के लिए एक विशेष स्थान तथा शौचालय बनाए जाएंगे। जहां वरिष्ठ नागरिक, विशेष रूप से दूरदराज के पिछड़े क्षेत्रों में रह रहे हैं, लोगों के लिए व्यायाम करने तथा घूमने के लिए उपयुक्त स्थान उपलब्ध होगा। इन पार्कों की सजावट आंवला, नीम व तुलसी जैसे औषधीय पौधों से की जाएगी।

Photo by PhotoMIX Company from Pexels
 10 लाख की लागत से बनेंगे पार्क
प्रत्येक पंचवटी पार्क लगभग 10 लाख रुपए की लागत से बनाया जाएगा और राज्य भर में 100 ऐसे पार्कों के निर्माण पर कुल 10 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। पहाड़ी और कठिन भू-भाग पर अतिरिक्त राशि मंजूर की जा सकती है क्योंकि जहां कठिन भौगोलिक स्थितियां हैं, वहां पर निर्माण लागत में वृद्धि हो सकती है। इन पार्कों का उपयोग स्वयं सहायता समूहों के स्थानीय उत्पादों की बिक्री को बढ़ावा देने के लिए भी किया जाएगा ताकि ग्रामीण स्तर पर अतिरिक्त आर्थिक गतिविधियां संचालित हों व रोजगार के अवसर पैदा हो सकें।

Photo by Ketut Subiyanto from Pexels
 8 जून को मुख्यमंत्री ने किया था शुभारंभ
पंचवटी योजना को ग्रामीण विकास विभाग ने 3 जून 2020 को अधिसूचित किया था और मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने 8 जून 2020 को शिमला से विधिवत रूप से शुभरांभ किया। इस योजना को मुख्य रूप से राज्य के बुजुर्ग नागरिकों की फिटनेस में सुधार लाना तथा उन्हें उनके स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना है।

Photo by mali maeder from Pexels
 दिसंबर 2021 तक तैयार होंगे ये पार्क
ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा कि पंचवटी पार्क बनने से राज्य में बुजुर्गों की शारीरिक, भावनात्मक और सामाजिक आवश्यकताएं पूरी करने में मदद मिलेगी। प्रदेश सरकार का लक्ष्य है कि दिसंबर 2021 तक चरणबद्ध तरीके से सभी पंचवटी पार्कों को विकसित किया जाए। 

Posted By : Himachal News 

Have something to say? Post your comment
और पर्यटन खबरें