हिंदी ENGLISH Saturday, August 13, 2022
Follow us on
 
हिमाचल

मुख्यमंत्री ने किया उप-तहसील सुलह का लोकार्पण, 80 करोड़ की परियोजनाएं जनता को समर्पित

हिमाचल न्यूज : सुलह (कांगड़ा) | August 09, 2020 05:30 PM

हिमाचल न्यूज : सुलह (कांगड़ा)  

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज कांगड़ा जिला के सुलह विधानसभा क्षेत्र में 80 करोड़ रुपये से अधिक लागत की विकासात्मक परियोजनाओं के उद्घाटन व शिलान्यास किए।

मुख्यमंत्री ने जिला कांगड़ा के डरोह (स्तर-2) में 57.07 लाख रुपये की लागत से निर्मित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के भवन, 108.35 लाख रुपये की लागत से निर्मित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पाहड़ा जिला कांगडा के अतिरिक्त भवन, उप-तहसील सुलह, 1.94 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित पालमपुर के काठुल कुहाल में बहाव सिंचाई योजना, पालमपुर में 1.47 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से बनने वाली एफआईएस कूहल सिंचाई योजना, पालमपुर की ग्राम पंचायत सनहून और आस-पास के गांव के लिए 1.16 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से निर्मित उठाऊ सिंचाई योजना तथा मारंड़ा में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का उद्घाटन किया।

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना-2 (बैच-1) के अन्तर्गत 10.92 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से धीरा से देवी टीला (कनपट) सड़क के स्तरोन्यन,  8.61 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से चिरान से थिरक वाया देवी टीला गांव और बाथू खड्ड पर पुल सहित, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना-2 (बैच-1) के अन्तर्गत 3.68 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से फेरड से थांबा सड़क के स्तरोन्यन और 99.55 लाख रुपये की अनुमानित लागत से सपरूल से हरिजन बस्ती सनोह वाया राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सनोह की आधारशिला रखी।

मुख्यमंत्री ने 6.35 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से ठाकुरद्वारा राम नगर राजचर टी एस्टेट गोडाउन शिव नगर काॅलोनी राधाकृष्ण मन्दिर हिमालय वाया टी फैक्ट्री सलोह सड़क और जल जीवन मिशन के अन्तर्गत 1.52 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से पालमपुर की ग्राम पंचायत रौरा के लिए उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजना की आधारशिला रखी।

उन्होंने जल जीवन मिशन के अन्तर्गत 2.89 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से गांव बुल्ला मेंजा, गर्देहर, घडेला कलां व फुलवार की आंशिक रूप से कवर की गई बस्तियों के लिए उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजना, जल जीवन मिशन के अन्तर्गत  1.44 करोड़ रुपये की लागत से गांव घराना खास, अलसा, बड़रेहड व तमलोह की आंशिक रूप से कवर की गई बस्तियों के लिए उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजना, 2.44 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से पालमपुर के लाहरू बछवाई में उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजना की आधारशिला रखी। उन्होंने इसी मिशन के अन्तर्गत कुरल, सिहोटू व मरहून तथा पालमपुर क्षेत्र में लाहरू बछवाई उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजना का शिलान्यास भी किया, जिसपर 5.67 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

उन्होंने पालमपुर में लाहरू बछवाई में 3.05 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत की उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजना के अन्तर्गत गांव चैकी जोना, बरसोला लाहरू और किरवान की बस्तियों के लिए जल जीवन मिशन के तहत उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजना की आधारशिला रखी। इसके अतिरिक्त, पालमपुर के सुलाह थम्बा ननौं में 5.67 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली पेयजल आपूर्ति योजना, आंशिक रूप से कवर की गई हेन्जा बस्ती और समीपवर्ती बस्तियों के लिए ग्राम पंचायत मनसीवाल, सिहोल और पालमपुर के बोड़ा में ‘हर घर नल’ की आधारशिला रखी। इन कार्यों पर 5.62 लाख रुपये व्यय किए जाएंगे। उन्होंने घरून तथा भवराना और सुलह खण्ड के विभिन्न गांवों के लिए भी लगभग 13.02 करोड़ रुपये की लागत से तैयार होने वाली पेयजल योजनाओं का शिलान्यास किया। इसके साथ ही उन्होंने जल जीवन मिशन के अन्तर्गत 1.52 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली ग्राम पंचायत रौरा के लिए उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजना की आधारशिला रखी।

इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने पालमपुर विधानसभा क्षेत्र में 10.25 करोड़ रुपये की लागत से धर्मशाला-डाड-पालमपुर-होलटा-चढियार-संधोल सड़क पर न्यूगल खड्ड पर 120 मीटर लम्बे डबल लेन पुल का लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री ने पालमपुर में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि पहले कांगड़ा जिले का दौरा करते समय, वह धर्मशाला से वीडियो काॅन्फ्रेंस के माध्यम से शिलान्यास और विकास परियोजनाओं का उद्घाटन करने की योजना बना रहे थे। लेकिन कांगड़ा के नेताओं के इस आश्वासन के उपरान्त ही परस्पर दूरी का समूचित ध्यान रखा जाएगा, उन्होंने सार्वजनिक बैठकें आयोजित करने का निर्णय लिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में आर्थिक गतिविधियों को शुरू करने के लिए, सरकार ने सार्वजनिक परिवहन शुरू करने का निर्णय लिया और राज्य में सभी व्यावसायिक गतिविधियों को भी बहाल किया। उन्होंने कहा कि लोगों को अभी भी यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि वे इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए सभी सुरक्षा उपायों को अपनाएं। उन्होंने कहा कि विपक्षी नेता भी इस महामारी को मुद्दा बनाकर  राजनीति करने का प्रयास कर रहे हैं। जब वे शिमला में अपने कार्यालय से बैठक कर रहे थे, इन नेताओं ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री राज्य के लोगों से मिलने से बच रहे हैं। लेकिन अब जब वह कांगड़ा के दौरे पर हैं, तो वही नेता आरोप लगा रहे हैं कि मुख्यमंत्री सामाजिक दूरी के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं।

जय राम ठाकुर क्षेत्र के लोगों को आश्वासन दिया कि लोगों की विभिन्न विकासात्मक मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार किया जाएगा। 

विधानसभा अध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक विपिन सिंह परमार ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि यह दिन सुलह विधानसभा क्षेत्र के लिए स्वर्णीम दिवस है, क्योंकि मुख्यमंत्री ने क्षेत्र के लिए करोड़ों रुपये की विकासात्मक परियोजनाएं समर्पित की हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री से सुलह विधानसभा क्षेत्र के मांझा के लिए नेचर पार्क और स्टेडियम स्वीकृत करने का भी आग्रह किया। 

Posted By :Himachal News

Have something to say? Post your comment
और हिमाचल खबरें
हिमाचल प्रदेश मंत्रिमण्डल ने आज लिए ये बड़े फैसले
सुंदरनगर में बड़ा हादसा : बारातियों से भरी कार दुर्घटनाग्रस्त, दो की मौत, तीन घायल
भोरंज की हर पंचायत में की जाएगी चैंपियन बेटियों की पहचान
बंगाणा के टिल्लू को मिलेगी सड़क सुविधा
Corona Update : हमीरपुर जिला में आरटी-पीसीआर टैस्ट में 13 लोग निकले कोरोना पॉजीटिव
हिमाचल प्रदेश मंत्रिमण्डल ने लिए कोविड और खनन पर आज लिए ये बड़े फैसले
हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने जारी किया कक्षा 12वीं टर्म-1 परीक्षा का परिणाम, ऐसे करें चेक
नालागढ़ में देसी शराब 24 पेटियां बरामद, तीन गिरफ्तार
ग्रामीणों ने जानें कौशल विकास निगम कार्यक्रम
कैसा हो हिमाचल का वार्षिक बजट ऐसे दें अपने सुझाव