हिंदी ENGLISH Monday, September 21, 2020
Follow us on
 
हिमाचल

Weather Update : हिमाचल में भारी बारिश ने मचाई तबाही, नदी-नाले उफान पर, 272 सड़कें रही बंद

हिमाचल न्यूज़ डेस्क | August 22, 2020 07:53 AM
मौसम समाचार | फ़ाइल फोटो - हिमाचल न्यूज

हिमाचल न्यूज़ डेस्क

हिमाचल प्रदेश में मानसून ने रौद्र रूप धारण कर लिया है। वीरवार से हो रही मूसलाधार बारिश का क्रम शुक्रवार को भी जारी रहा। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के पूर्वानुमान के मुताबिक राज्य में 27 अगस्त तक मौसम खराब बना रहेगा। इस दौरान राज्य के अधिकांश क्षेत्रों में बारिश होगी। इसके लिए विभाग द्वारा अलर्ट जारी किया गया है। प्रदेश में लगातार हो रही भारी बारिश होने से नदी-नाले उफान पर हैं। भू-स्खलन से कई सड़क मार्ग अवरुद्ध हो गए हैं और कई भवनों को भी नुकसान पहुंचा है।

हिमाचल के कई जिलों में मूसलाधार बारिश जारी है। शुक्रवार को रोहतांग दर्रे में फिर हिमपात हुआ। प्रदेश में 11 घर और डेढ़ दर्जन से ज्यादा गोशालाएं ढह गईं। 12 अन्य घर क्षतिग्रस्त हुए हैं। कई जिलों में अंधड़ से मक्की की फसल को भारी नुकसान हुआ है।

272 सड़कें रही बंद
मंडी-मनाली, पांवटा-शिलाई एनएच और शिमला-करसोग-मंडी मार्ग सहित प्रदेश में 272 सड़कें बंद रहीं। वहीं देर शाम औट के पास भूस्खलन से मंडी-कुल्लू-मनाली नेशनल हाईवे भी बंद हो गया है। यातायात को बजौरा से डाइवर्ट किया गया है। कालका-शिमला हाईवे-5 पर पहाड़ से पत्थर गिर रहे हैं। सोलन जिले में एक दर्जन से ज्यादा सड़कें बंद हैं। मनाली-लेह मार्ग के साथ जिले के कई मुख्य और संपर्क मार्गों पर भूस्खलन जारी रहा।

सोलन : जिला के अर्की की बखालग पंचायत के मोहल (तरगेढ) गांव में मकान पर चट्टान गिर गई। हादसे में बुजुर्ग बाल-बाल बच गया। मकान का एक हिस्सा ढह गया है जिससे लाखों का नुकसान हुआ है। परवाणु के सेक्टर 6 के ब्लॉक न 19 मे रह रहे लोगो की परेशानी बढ़ा दी है। ब्लॉक न 19 में ड्ंगा गिरने से सड़क अवरुद्ध हुई जिससे दोनो तरफ गाड़ियों की कतार लग गयी दोपहर 2.30 बजे जेसीबी लगाकर यातायात खोल दिया गया। सोलन के विभिन्न इलाकों में सरकारी और निजी संपत्ति को करोड़ों का नुकसान हुआ है। लोक निर्माण विभाग को 20 करोड़, जबकि जलशक्ति विभाग को एक करोड़ का नुकसान हुआ है। जिले में एक दर्जन से ज्यादा सड़कें बंद हैं। 

बिलासपुर : भारी बारिश और भूस्खलन से कीरतपुर-नेरचौक फोरलेन के निर्माणाधीन फ्लाईओवर के चार पिलर गिर गए।

कुल्लू : जिले में भूस्खलन से एक दर्जन के करीब सड़कें प्रभावित हैं। ब्यास का जलस्तर उफान पर है। कुल्लू की बंदरोल सब्जी मंडी पानी से लबालब हो गई है। मनाली-लेह मार्ग के साथ जिले के कई मुख्य और संपर्क मार्गों पर भूस्खलन जारी रहा। सैंज घाटी के प्राइमरी स्कूल मझाण का किचन शेड क्षतिग्रस्त हो गया। जिला में लगातार हो रही बारिश के चलते उपायुक्त डाॅ. ऋचा वर्मा ने लोगों ने अपील की है कि वे नदी-नालों के समीप न जाएं। अचानक से जलस्तर बढ़ने से आप मुसीबत में पड़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि रात्रि के समय वाहनों को चलाने से भी परहेज करें। पहाड़ी की ओर वाहन को पार्क न करें। वर्षा के कारण पत्थर व ल्हासे गिरने की आंशका लगातार बनी हुई है। ब्यास नदी अथवा इसकी सहायक नदियों के समीप रहने वाले लोग भी सचेत रहे।

मंडी : भारी बारिश से 110 मेगावाट की शानन परियोजना में उत्पादन ठप हो गया। परियोजना में भारी मात्रा में पानी और सिल्ट आने से उत्पादन बंद करना पड़ा। परियोजना के आठ गेटों को खोल दिया है।

कांगड़ा : जिला को अब तक करीब 29 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा है। विभिन्न विभागों ने नुकसान की रिपोर्ट जिला प्रशासन को भेजी है, जिसमें सबसे अधिक नुकसान पीडब्ल्यूडी को 11.61 करोड़ रुपये का उठाना पड़ा है। आईपीएच विभाग को भूस्खलन की वजह से पाइपों के टूटने या तेज बहाव में बहने से नुकसान हुआ है। जिला में मकान गिरने से एक वृद्ध महिला की मौत भी बरसात के दौरान हुई है, जिस पर जिला प्रशासन की ओर से नियमानुसार मुआवजा दिया गया है। डीसी कांगड़ा राकेश प्रजापति ने बताया कि जिला में अब तक बरसात के चलते करीब 29 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। जिसमें एनएच को 8.81 करोड़, आईपीएच को 4.76 करोड़, पीडब्ल्यूडी को 11.61 करोड़, उद्यान व कृषि विभाग को 2.25 करोड़ और विद्युत बोर्ड को 1 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। बारिश की वजह से पीडब्ल्यूडी के कोई मेजर रोड़ प्रभावित नहीं हुए हैं और न ही आईपीएच की बड़ी स्कीमों को बरसात से कोई नुकसान हुआ है।

बारिश से न्यूनतम तापमान में दो डिग्री तक की गिरावट आई है। मौसम विभाग के निदेशक डा. मनमोहन सिंह ने बताया कि प्रदेश में 27 अगस्त तक मौसम खराब बना रहेगा। मैदानी इलाकों सहित शिमला, कुल्लू, सोलन, मंडी, चंबा व सिरमौर में 25 अगस्त को भारी बारिश होगी।

ये रहा हिमाचल का तापमान (डिग्री सेल्सियस)

स्थान     

अधिकतम

न्यूनतम

बारिश MM

शिमला

18.4

15.6

27.0

सुंदरनगर

23.6

21.2

19.0

भुंतर

21.0

20.0

34.0

कल्पा  

17.8

13.3

1.4

धर्मशाला

24.4

18.2

45.0

ऊना   

26.2

22.2

15.0

नाहन

25.5

20.7

11.7

केलांग

18.2

12.2

0.0

पालमपुर

21.2

18.0

29.0

सोलन

22.5

19.0

18.4

मनाली

18.4

14.8

23.0

कांगड़ा

22.8

20.9

39.0

मंडी

25.1

21.0

24.0

बिलासपुर  

28.5

23.0

41.0

हमीरपुर

28.2

22.8

0.0

चंबा

22.8

21.6

23.3

डलहौजी

16.2

14.4

23.0

कुफ़री

15.6

13.9

22.0

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला की ओर से जारी तापमान की रिपोर्ट 21 अगस्त की है।

ये भी पढ़ें : बरसात के मौसम में फैलने वाली बीमारियों से बचने का ऐसे करें उपाय

Posted by : Himachal News

Have something to say? Post your comment
और हिमाचल खबरें
ऊना : जिला में इन क्षेत्रों को बनाया कंटेनमेंट जोन
बिना अध्यापकों के निर्वाचन कार्य का सफलतापूर्वक सम्पन्न होना असम्भव
हमीरपुर : 8 वार्डों में बनाए कंटेनमेंट जोन, घोड़ीधबीरी के दो वार्डों से हटाई पाबंदियां
एक दिन में 500 श्रद्धालु ही कर पाएंगे मां चिंतपूर्णी के दर्शन
आग से ढाई मंजिला मकान राख, 3 परिवार हुए बेघर
Weather Update : हिमाचल में इस दिन तक जारी रहेगा भारी बारिश का दौर
प्रकृति ने धर्मशाला व शिमला को बनाया है स्मार्ट सिटी
Corona Update : हिमाचल के इन जिलों में आए 139 नए मामले, 175 हुए ठीक, तीन की मौत
हिमाचल : कोरोना संक्रमण मामले आने पर ये इलाके कंटेनमेंट व बफर जोन घोषित
फर्जी बीपीएल तथा अन्त्योदय कार्ड धारकों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई