हिंदी ENGLISH Monday, September 21, 2020
Follow us on
 
हिमाचल

प्रकृति ने धर्मशाला व शिमला को बनाया है स्मार्ट सिटी

हिमाचल न्यूज : धर्मशाला | September 01, 2020 08:42 PM
फाइल फोटो - हिमाचल न्यूज

हिमाचल न्यूज : धर्मशाला

शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट तेजी से काम करे, जिससे समय सीमा में प्रोजेक्ट बन सकें। उन्होने कहा कि प्रकृति ने धर्मशाला व शिमला को स्मार्ट सिटी बनाया है। धर्मशाला ब्वायज सीनियर सेकेंडरी स्कूल को स्मार्ट स्कूल के रूप में लिया गया है, जिसके लिए 2 करोड़ रुपये से अधिक स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत दिया गया है। इसमें स्मार्ट तकनीक से बच्चों की पढ़ाई और खेलकूद की भी आधुनिक व्यवस्था होगा।

सुरेश भारद्वाज ने मंगलवार को धर्मशाला ब्वायज स्कूल में बन रहे स्मार्ट क्लॉस रूम का निरीक्षण करने उपरांत पत्रकारों से बातचीत में कहा कि स्मार्ट सिटी से एजुकेशन का फायदा होगा और शहर की स्मार्टनेस व ब्यूटीफिकेशन भी इससे बढ़ेगी। धर्मशाला में स्मार्ट सिटी, हिमुडा, टीसीपी और को-आपरेटिव विभाग के साथ बैठक और केसीसी बैंक की भी जानकारी ली जाएगी।

विधानसभा के मानसून सत्र के बारे में पूछे गए एक सवाल के जबाव में सुरेश भारद्वाज ने कहा कि विधानसभा में हम हर सवाल का जवाब देने को तैयार हैं। नेता प्रतिपक्ष विधानसभा में जो भी सवाल पूछना चाहें, उनका स्वागत है।

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल द्वारा सोशल मीडिया पर की गई पोस्टर पर सुरेश भारद्वाज ने कहा कि मुझे इस बारे में जानकारी नहीं है।

Posted By :Himachal News

Have something to say? Post your comment
और हिमाचल खबरें
ऊना : जिला में इन क्षेत्रों को बनाया कंटेनमेंट जोन
बिना अध्यापकों के निर्वाचन कार्य का सफलतापूर्वक सम्पन्न होना असम्भव
हमीरपुर : 8 वार्डों में बनाए कंटेनमेंट जोन, घोड़ीधबीरी के दो वार्डों से हटाई पाबंदियां
एक दिन में 500 श्रद्धालु ही कर पाएंगे मां चिंतपूर्णी के दर्शन
आग से ढाई मंजिला मकान राख, 3 परिवार हुए बेघर
Weather Update : हिमाचल में इस दिन तक जारी रहेगा भारी बारिश का दौर
Corona Update : हिमाचल के इन जिलों में आए 139 नए मामले, 175 हुए ठीक, तीन की मौत
हिमाचल : कोरोना संक्रमण मामले आने पर ये इलाके कंटेनमेंट व बफर जोन घोषित
फर्जी बीपीएल तथा अन्त्योदय कार्ड धारकों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई
कोविड-19 मरीजों का ईलाज कर रहे चिकित्सकों व पैरा-मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा भी सुनिश्चित होः मुख्यमंत्री