हिंदी ENGLISH Sunday, February 28, 2021
Follow us on
 
देश

बजट 2021-22: भाजपा ने सराहा, कांग्रेस ने नकारा

सोमसी देष्टा : शिमला | February 01, 2021 04:50 PM
Photo : Third Party

हिमाचल न्यूज़ : शिमला

शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने केंद्रीय बजट की सराहना करते हुए कहा कि यह बजट आत्मनिर्भर भारत का बजट है, जो देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करेगा। सुरेश भारद्वाज ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में आज प्रस्तुत हुआ बजट आम जनता के हित में है। सरकार ने स्वास्थ्य, ग्रामीण भारत में बुनियादी ढांचे को मजबूत करने पर जोर दिया है।

मंत्री ने कहा कि केंद्रीय वित्त मंत्री ने जल जीवन मिशन शहरी शुरू करने की घोषणा की है। इसे 2.87 लाख करोड़ रुपये के परिव्यय के साथ पांच वर्षों में लागू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश शहरी विकास के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य कर रहा है और परिव्यय में समग्र वृद्धि से राज्य को लाभ होगा। राष्ट्रीय स्तर पर आवास और शहरी मामलों के विभाग के लिए 54,581 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं, जो पिछले बजट आबंटन की तुलना में 4000 करोड़ रुपये से अधिक है।

बजट बढ़ने से राज्यों को धन का प्रवाह बढ़ेगा। स्मार्ट सिटी और अमरूत मिशन के बजट में बढ़ौतरी भी प्रदेश के लिए सकारात्मक संकेत है। स्वच्छ भारत मिशन में जान फूंकने की आवश्यकता को रेखांकित करते हुए, मंत्री ने कहा कि 4,378 शहरी स्थानीय निकायों, 500 अमरूत शहरों में तरल अपशिष्ट प्रबंधन किया जाएगा, जिसमें हिमाचल के शहर भी शामिल हैं। मंत्री ने कहा कि शहरी स्वच्छ भारत मिशन के दूसरे चरण को 1,41,687 करोड़ रुपये के बजटीय आवंटन के साथ शुरू किया जाएगा, जिसका प्रदेश को भी सीधा लाभ होगा। उन्होंने कहा कि राज्य में घर-घर सर्वेक्षण अभियान शुरू किया गया है, जो स्रोत पर अपशिष्ट अलगाव पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। ताजा आवंटन से हमें लक्ष्य हासिल करने में मदद मिलेगी।

सभी वर्गों को ध्यान में रखकर बनाया गया बजट : सुरेश कश्यप
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद सुरेश कश्यप ने कहा कि केंद्रीय बजट 2021 सभी वर्गों को ध्यान में रखकर बनाया गया है। मुख्यता केंद्रीय बजट 6 स्तंभों पर निर्धारित किया गया है 1. स्वास्थ्य और कल्याण, भौतिक और वित्तीय पूंजी, और बुनियादी ढाँचा, एस्पिरेशनल इंडिया के लिए समावेशी विकास, मानव पूंजी को मजबूत बनाना, नवाचार और अनुसंधान एवं विकास और न्यूनतम सरकार और अधिकतम शासन।

उन्होंने कहा स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचागत सुविधाओं में निवेश में उल्लेखनीय वृद्धि की गई है और वर्ष 2020-21 के बजट अनुमान में स्वास्थ्य एवं खुशहाली के लिए बजट परिव्यय 2,23,846 करोड़ रुपये का है, जबकि इस साल का बजट अनुमान 94, 452 करोड रुपये का है, जो 137 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है। वित्त मंत्री ने घोषणा की कि 6 वर्षों में लगभग 64,180 करोड़ रुपये के परिव्यय वाली एक नई केन्द्र प्रायोजित स्कीम ‘पीएम आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना’ का शुभारंभ किया जाएगा।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पोषक तत्वों को बढ़ाने के साथ-साथ इनकी डिलीवरी, पहुंच एवं परिणाम को बेहतर करने के लिए सरकार पूरक पोषण कार्यक्रम और पोषण अभियान का आपस में विलय कर देगी तथा मिशन पोषण 2.0 को लॉन्च करेगी। सरकार सभी 112 जिलों में पोषण संबंधी परिणामों को बेहतर करने के लिए एक गहन रणनीति अपनाएगी।

उन्होंने कहा रेलवे अधोसंरचना की दृष्टि से भारतीय रेलवे ने भारत के लिए एक राष्ट्रीय रेल योजना दृ 2030 तैयार की है। इस योजना को वर्ष 2030 तक ‘भविष्य के लिए तैयार’ रेलवे तंत्र सृजित करना है। हमारे उद्योगों के लिए परिवहन लागत को कम करना ‘मेक इन इंडिया’ को समर्थ बनाने के लिए हमारी रणनीति का मुख्य बिंदु है।

भाजपा अध्यक्ष ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए सरकार द्वारा प्रस्तुत बजट को ऐतिहासिक करार देते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एवं वित्त एवं काॅरपोरेट राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर को हार्दिक बधाई दी है और कहा कि कोरोना काल में जब भारतीय अर्थव्यवस्था को बहुत बड़ा धक्का लगा है ऐसे में सर्ववर्ग हितकारी बजट प्रस्तुत करना सचमुच सराहनीय है। 

बजट में हिमाचल प्रदेश की हुई उपेक्षा राठौर
कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने केंद्रीय बजट में हिमाचल प्रदेश को उपेक्षा का आरोप लगाते हुए कहा है कि केंद्र सरकार प्रदेश के साथ बड़ा अन्याय कर रही है। उन्होंने आरोप लगाया है कि यह बजट उन राज्यों को देख कर बनाया गया है जहां इस साल चुनाव होने वाले है जिससे उन्हें चुनावों में इसका कोई राजनैतिक लाभ मिल सकें।

राठौर ने केंद्रीय बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि जबकि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदेश से है और केंद्रीय राज्य वित्त मंत्री भी प्रदेश से संबद्ध रखते है ऐसे में प्रदेश के लिए किसी भी नई योजना को न देना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि पिछले बजट में प्रदेश में रेल व राष्ट्रीय राजमार्गों के विस्तार की जो बात कही गई थी,इसबार उनका इस बजट में लेश मात्र भी उल्लेख नही है।

राठौर ने कहा है कि प्रदेश दिनों दिन कर्जो के बोझ से दबता जा रहा है। कोरोना की बजह से प्रदेश में पर्यटन के साथ साथ सूक्ष्म लघु उद्योग पर व्यापक विपरीत असर पड़ा है। सरकार ने इनके विकास के लिए भी कोई प्रोत्साहन नही दिया है। प्रदेश सरकार केंद्र से कोई भी आर्थिक मदद नही ले पाई है। उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद थी कि इस बार केंद्र प्रदेश को कोई बड़ी राहत देते हुए प्रदेश के किसानों, बागवानों को प्रोत्साहित करेगी, पर ऐसा कुछ नही हुआ। रेल बजट ने भी प्रदेश को भारी निराश किया है।

राठौर ने बजट को निराशा व्यक्त करते हुए कहा है कि यह महज आंकड़ों का मायाजाल बुनकर अपनी नाकामियां छुपाने का असफल प्रयास किया गया है। उन्होंने कहा है कि इस बजट से देश मे महंगाई व बेरोजगारी बढ़ेगी। बजट में आम लोगों को भी कोई राहत नही है। बजट पूरी तरह दिशाहीन है व नकारा है।

सीटू ने बजट को केंद्र सरकार की पूंजीपतियों के साथ सेल डीड दिया करार
केंद्रीय बजट की दिशा साफ दिखा रही है कि सरकार पूंजीपतियों के साथ है। बजट ने आर्थिक संसाधन आम जनता से छीनकर अमीरों के दरबार में केंद्रित कर दिए हैं। यह बजट नहीं बल्कि केंद्र सरकार की पूंजीपतियों के साथ सेल डीड है। बजट में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की आड़ में बैंक,बीमा,रेलवे व अन्य सार्वजनिक उपक्रमों को कौड़ियों के भाव बेचने की घोषणा कर दी गयी है। इस बजट में मजदूरों,किसानों,कर्मचारियों व मिडल क्लास के लिए कुछ भी नहीं है। बजट में पूंजीपतियों के ही बोलबाला है। बजट दिशाहीन व निराशाजनक है। केंद्रीय बजट की दिशा साफ दिखा रही है कि सरकार पूंजीपतियों के साथ है। बजट ने आर्थिक संसाधन आम जनता से छीनकर अमीरों के दरबार में केंद्रित कर दिए हैं। यह बजट नहीं बल्कि केंद्र सरकार की पूंजीपतियों के साथ सेल डीड है। बजट में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की आड़ में बैंक,बीमा,रेलवे व अन्य सार्वजनिक उपक्रमों को कौड़ियों के भाव बेचने की घोषणा कर दी गयी है। इस बजट में मजदूरों,किसानों,कर्मचारियों व मिडल क्लास के लिए कुछ भी नहीं है। बजट में पूंजीपतियों के ही बोलबाला है। बजट दिशाहीन व निराशाजनक है।

Posted By : Himachal News

Have something to say? Post your comment
और देश खबरें
केन्द्रीय बजट में हिमाचल को रेल विस्तार के लिए 720 करोड़ : अनुराग ठाकुर
शिमला और लाहौल में ताजा हिमपात, शीतलहर की चपेट में हिमाचल
अटल टनल रोहतांग को जाना है तो यह खबर जरूर पढ़ें
अनलॉक 4 : हिमाचल में प्रवेश के लिए ऑनलाइन पंजीकरण आवश्यक, पूरी तैयारी के बाद ही खुलेंगे धार्मिक संस्थान
“देश के 50 उम्दा विधायक” सर्वे में हिमाचल के ये तीन विधायक भी शामिल
ई-संजीवनी पोर्टल पर परामर्श पंजीकृत करने में हिमाचल देश भर में तीसरे स्थान पर
राज्य के 8.5 लाख किसानों को सम्मान निधि की छठी किश्त जारी
अनुराग ठाकुर ने वीडियो कॉन्फ्रेंस से जाना अपने संसदीय क्षेत्र की स्वास्थ्य सेवाओं का हाल
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा के पिता, पत्नी समेत 16 के लिए कोरोना सैंपल
Chairman KCCB calls on Governor