हिंदी ENGLISH Friday, May 14, 2021
Follow us on
 
हिमाचल

ई-कैबिनेट प्रणाली लागू करने वाला देश का पहला राज्य बना हिमाचल, जानिए क्या क्या है खासियत

सोमसी देष्टा : शिमला | February 05, 2021 08:18 PM
ई-कैबिनेट की बैठक | फोटो - हिमाचल न्यूज़

हिमाचल न्यूज़ | ई विधानसभा के बाद अब हिमाचल कैबिनेट भी हाई टैक हो गई है। आज ई-कैबिनेट एप्लीकेशन द्वारा पहली ई-कैबिनेट बैठक आयोजित की गई। हिमाचल ने कैबिनेट ज्ञापन और कैबिनेट की कार्यवाही को कागज रहित बनाकर देश का पहला राज्य बनकर एक और उपलब्धि अपने नाम की है। ई-कैबिनेट के लिए सूचना प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा आईटी एप्लीकेशन को विकसित किया गया है और यह पूरे देश में इस तरह का पहला ऐसा इलेक्ट्रोनिक्स प्लेटफॉर्म है।

इसमें कैबिनेट ज्ञापन से सम्बन्धित सम्पूर्ण प्रक्रिया को ऑनलाइन करने का प्रावधान किया गया है, जिसमें सम्बन्धित सचिव, मुख्य सचिव, सम्बन्धित मंत्री और अन्त में मुख्यमंत्री द्वारा ज्ञापन को कैबिनेट में रखने की अनुमति इत्यादि शामिल है। मुख्यमंत्री के अनुमोदन के बाद कैबिनेट बैठक की तारीख भी इस प्रणाली के माध्यम से अधिसूचित की जाएगी। कैबिनेट कार्यवाही और सम्बन्धित एजेंडे पर कैबिनेट के फैसलों की रिकाॅर्डिंग और सम्बन्धित विभागों की सलाह जारी करने का काम भी ई-कैबिनेट प्रणाली के माध्यम से किया जाएगा।

ये होगी खासियत
ई-कैबिनेट विभिन्न प्रकार की सुविधाएं प्रदान करता है जैसे कि विभिन्न स्तरों पर वास्तविक समय में एसएमएस के माध्यम से स्वचालित अलर्ट की सुविधा, आॅनलाइन कैबिनेट ज्ञापन की प्राप्ति, कैबिनेट की बैठक को अन्तिम रूप देना तथा कैबिनेट ज्ञापन पर सम्बन्धित विभागों से सलाह लेना। ई-कैबिनेट एप्लीकेशन से सम्बन्धित सचिवों को डैशबोर्ड के रूप में वास्तविक जानकारी प्राप्त करने में मदद मिलेगी। ई-कैबिनेट एप्लीकेशन एंड्राॅइड डिवाइस पर मोबाइल ऐप के रूप में भी उपलब्ध है और जल्द ही इसे आईओएस डिवाइस पर भी उपलब्ध करवाया जाएगा।

ये होंगे फायदे ई-कैबिनेट
नई प्रणाली कैबिनेट बैठक आयोजित करने की समग्र प्रक्रिया में अधिक दक्षता लाएगी और कैबिनेट ज्ञापनों को कागज पर लाने की आवश्यकता नहीं रहेगी। यह कैबिनेट की कार्यवाही की गोपनीयता की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त सुरक्षा लाएगी। इस प्रणाली में कैबिनेट ज्ञापन का एक मानक टेम्पलेट होगा जिससे निर्णय लेने में आसानी होगी। यह प्रणाली सुरक्षित रूप से संचय करके भविष्य में इस्तेमाल के लिए संस्थागत मेमोरी तैयार करेगी। इस माध्यम से कैबिनेट के फैसलों के कार्यान्वयन की स्थिति को और अधिक प्रभावी ढंग से माॅनिटर करना भी संभव होगा।

ऐसे कम काम करेगी ई-कैबिनेट एप्लिकेशन
ई-कैबिनेट एप्लिकेशन में सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता पर रखा गया है। इस एप्लिकेशन में केवल अधिकृत कंप्यूटरों पर अधिकृत उपयोगकर्ताओं को ही इस्तेमाल की अनुमति है। उपयोगकर्ता को कैबिनेट ज्ञापन के स्क्रीनशॅट लेने, डाउनलोड या प्रिंट करने की अनुमति नहीं है तथा अनाधिकृत प्रयास पर स्वचालित अलर्ट उत्पन्न होता है। इसके अतिरिक्त सुरक्षा के मद्देनजर ओटीपी का उपयोग करके ही लाॅगिन किया जा सकता है। इस एप्लीकेशन में डाले गए सभी कैबिनेट ज्ञापनों में दिनांक और समय टिकट के साथ विशेष क्यूआर कोड होगा।

क्या कहते हैं मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य ने कैबिनेट ज्ञापन और कैबिनेट की कार्यवाही को कागज रहित बनाकर देश का पहला राज्य बनकर एक और उपलब्धि अपने नाम की है। उन्होंने कहा कि आज की ई-कैबिनेट की बैठक में 32 कैबिनेट ज्ञापनों पर भी चर्चा की गई और इसे ई-कैबिनेट एप्लीकेशन के माध्यम से संचालित किया गया। उन्होंने कहा कि आज की ई-कैबिनेट की बैठक में 32 कैबिनेट ज्ञापनों पर भी चर्चा की गई और इसे ई-कैबिनेट एप्लीकेशन के माध्यम से संचालित किया गया।

Posted By : Himachal News

Have something to say? Post your comment
और हिमाचल खबरें
मेडिकल कॉलेज के निर्माणाधीन भवन के कारण बंद हुई सड़क को बहाल करने की उठाई मांग
ठाकुर राम सिंह की जयंती पर आयोजित दो दिवसीय राज्यस्तरीय समारोह संपन्न, शिक्षा मंत्री ने बतौर मुख्यतिथि की शिरकत
झगड़ियानी में रविवार को आयोजित जनमंच में मुर्दाबाद के नारे लगने के बाद गरमाया सियासी पारा
बजरंग दल कार्यकर्ता रिंकू शर्मा की हत्या मामले में अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी हमीरपुर के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम सौंपा ज्ञापन, हत्यारों के लिए फांसी की की गयी मांग
सरकार के निर्देशों के बाबजूद निजी स्कूल वसूल रहे एनुअल चार्ज, अभिवावकों ने किया प्रदर्शन
करतार सिंह ने केन्द्रीय बजट को लेकर कही ये बड़ी बाते
पोलियो से ऐसे लड़ेगा चंबा
परिवहन विभाग ने ऐसे जागरूक किए ऑटोमोबाइल डीलर्स
14 फरवरी को हरिपुर में होगा जनमंच कार्यक्रम
वन बंधु कल्याण योजना की प्रगति में लाएं और तेजी : उपायुक्त