हिंदी ENGLISH Saturday, September 18, 2021
Follow us on
 
बिजनेस

अब फ्लिपकार्ट पर बिकेंगे हिमाचल के हस्तशिल्प उत्पाद

सोमसी देष्टा : शिमला | August 06, 2021 05:05 PM
फोटो - हिमाचल न्यूज़

हिमाचल न्यूज़ | राज्य हस्तशिल्प एवं हथकरघा निगम के उत्पादों की ऑनलाइन बिक्री और इन उत्पादों को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की उपस्थिति में निगम और फ्लिपकार्ट ई-कॉमर्स कम्पनी के मध्य एक समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित किया गया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड महामारी ने ग्रामीण कारीगरों और स्थानीय उत्पादकों की आर्थिकी को बड़े पैमाने पर प्रभावित किया है। उन्होंने कहा कि इस समझौता ज्ञापन से राज्य के हस्तशिल्प और हथकरघा से जुड़े 20 हजार से अधिक दस्तकारों को ई-कॉमर्स प्लेटफार्म उपलब्ध होगा। कारीगरों को उनके उत्पादों को आनलाईन मार्केट के माध्यम से बेचने के अवसर उपलब्ध होंगे और उत्पादों के बेहतर दाम भी मिल सकेंगे। उन्होंने कहा कि इससे हिमाचली हस्तशिल्प और हथकरघा उत्पादों की न केवल राष्ट्रीय बल्कि अन्तर्राष्ट्रीय बाजारों में भी उपलब्धता सुनिश्चित होगी।

जय राम ठाकुर ने कहा कि यह समझौता ज्ञापन ब्रांड हिमाचल को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रोत्साहित करने में सहायक सिद्ध होगा। इसके माध्यम से हिमाचली शिल्पकारों द्वारा तैयार किए जाने वाले उत्पाद विश्वभर के लोगों को उपलब्ध हो सकेंगे। एक क्लिक के माध्यम से जहां हिमाचल प्रदेश के विश्व प्रसिद्ध हथकरघा और हस्तशिल्प उपलब्ध होंगे वहीं स्थानीय कारीगरों की आर्थिकी सुदृढ़ करने में भी सहायता मिलेगी।

मुख्यमंत्री ने राज्य हस्तशिल्प एवं हथकरघा निगम के व्यावसायिक माॅडल को तैयार करने और कारीगरों को ई-मार्केट मंच प्रदान करने की दिशा में किए गए प्रयासों की सराहना की। उन्होंने 7 अगस्त, 2021 को मनाए जाने वाले सातवें हथकरघा दिवस के अवसर पर राज्य के हथकरघा संचालकों को बधाई दी।

Posted By : Himachal News

Have something to say? Post your comment
और बिजनेस खबरें
कोरोना महामारी : छोटे व्यापापरियों और दुकानदारों पर भारी
ग्लोबल इन्वेस्टर मीट : 17356 करोड़ का निवेश, 40 हजार को रोजगार के लिए 159 एमओयू
ईटी-नाऊ के प्रतिष्ठित अवार्ड से नवाजे एसजेवीएनएल के नंदलाल शर्मा व गीता कपूर
हरे पत्तों पर सूखी तीलियों से रंग भरती मुस्कान हिमाचल में 544 पेट्रोल पंप खोलेंगीं ये तीन कंपनियां, 24 दिसंबर तक मांगे आवेदन अगर आप सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने के इच्छुक हैं तो इस दिन आए शिमला और मंडी जानिए मोदी सरकार को जी एस टी से क्यों लगा करारा झटका जंगी-थोपन बिजली परियोजना: सरकार और एसजेवीएन के बीच अगले माह होगा एमओयू सौर ऊर्जा की इन परियोजनाओं को लगा सकते हैं आप भी, जानिए क्या है शर्तें ?