हिंदी ENGLISH Thursday, February 09, 2023
Follow us on
 
पर्यटन

साहसिक टूरिज़्म गतिविधियों का केन्द्र बनेगा अंदरौली

हिमाचल न्यूज़ : ऊना | September 18, 2021 06:47 PM
फोटो - हिमाचल न्यूज़

हिमाचल न्यूज़ | जिला ऊना के कुटलैहड़ विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के घरवासड़ा से पर्वतारोहण संस्थान मनाली के प्रोफैशनल पाइलटों द्वारा पैराग्लाइडिंग ट्रायल के रूप में एक सफल उड़ान रही है, जिसमें टेक ऑफ घरवासड़ा के साइट से किया गया जबकि लेंडिंग गोबिंदसागर झील के किनारे स्थित अंदरौली नामक साइट पर की गई। 

 यह जानकारी देते हुए कुटलैहड़ टूरिज्म विकास समिति के अध्यक्ष एवं उपायुक्त ऊना राघव शर्मा ने बताया कि सफल ट्राइल को देखते हुए अब शीघ्र ही इस स्थल को पैराग्लाडिंग स्पोर्टस के लिए अधिसूचित करने हेतु मामला राज्य सरकार को भेजा जा रहा है ताकि दोनों ही साइट्स को टूरिज्म की दृष्टि से विकसित किया जा सके।

उपायुक्त ने बताया कि कुटलैहड़ टूरिज़्म विकास समिति द्वारा अंदरौली को साहसिक गतिविधियों के तौर पर विकसित करने के लिए भरसक प्रयास किया जा रहा है। इस स्थल को साहसिक खेलों का केन्द्र बनाने के लिए 16 से 21 सितम्बर तक जल क्रीडाओं का ट्रायल भी चल रहा है जिसमें काइकिंग, जैट स्किंग, सेलिंग, रोइंग, ईहाइड्रा फॉलिंग, वाटर सर्फिंग, स्नारकेलिंग, राफ्टिंग इत्यादि गतिविधियां शामिल हैं। यहां वाटर स्पोर्ट परिसर भी विकसित हो रहा है। उन्होंने कहा कि हिमाचल व ऊना में आने वाले पर्यटकों के लिए अंदरौली एकीकृत टूरिज्म गतिविधियों का केन्द्र बनेगा जिसमें टूरिस्ट घरवासड़ा से पैराग्लाइडिंग करते हुए अंदरौली में उतर कर जल क्रीडाओं का आनन्द भी ले सकेंगे। 

Posted By : Himachal News

Have something to say? Post your comment
और पर्यटन खबरें
इस योजना से हर मौसम में पर्यटकों को आकर्षित करेगा हिमाचल
कोरोना काल से उभरा हिमाचल का पर्यटन व्यवसाय, प्रदेश में इस वर्ष पहुंचे 1 करोड़, 27 लाख पर्यटक
हिमाचल में पंचवटी पार्क से आएगी बहार, ये सुविधाएं मिलेगी
हिमाचल को इंडिया टूडे पर्यटन अवार्ड-2019
सैलानियों के लुभाते 'इग्लू' : खासियत देखकर आप भी होंगे इसके दीवाने
देखें, मनाली की कोठी गांव में बर्फबारी का नजारा जानिए पर्यटन, मनोरंजन पार्क और फिल्म सिटी के लिए क्या योजना है मुख्यमंत्री की ट्रायल सफल, अब इस दिन से कालका-शिमला रेलवे ट्रैक पर दौड़ेगी विस्टा डोम कोच, जानिए क्या है खासियत हिमाचली व्यंजनों का स्वाद चखना है तो यहां आइए यहां बारिश होना किसी अजूबे से कम नही